जागरण संवाददाता, नाहन : जिला सिरमौर में स्वास्थ्य विभाग की ओर से लोगों को जागरूक करने के सभी दावे खोखले साबित हो रहे हैं। जिला सिरमौर में डेंगू ने पाव पसार लिए हैं। जिला के विभिन्न अस्पतालों से पांच डेंगू के मरीजों को डॉ. वाईएस परमार मेडिकल कॉलेज नाहन व पावटा साहिब अस्पताल रेफर किया है। इनमें चार रोगी सराहा सिविल अस्पताल से डेंगू के लक्षण पाए जाने के बाद नाहन रेफर किए गए हैं। वही पावटा साहिब उपमंडल के आजभोज क्षेत्र से भी एक डेंगू के रोगी को पावटा अस्पताल में भर्ती किया गया है। जिला सिरमौर के अस्पतालों में इन दिनों बुखार से पीड़ित लोगों की भारी भीड़ है। जिला के अधिकतर सिविल अस्पताल व पीएचसी में बुखार के मरीजों की लाइनें लगी हुई है। आलम यह है कि कुछ सिविल अस्पतालों में तो मरीजों को बेड तक नहीं मिल रहे हैं। एक बेड पर दो या तीन मरीज हैं।

-------

जब तक बुखार वाले रोगी का पीसीआर का टेस्ट पॉजीटिव नहीं नहीं आ जाता तब तक उसे डेंगू नहीं कहा जाता है। सराहा अस्पताल से चार मरीजों के बुखार की जांच की जा रही है।

-डॉ. केके पराशर, वरिष्ठ चिकित्सा अधीक्षक नाहन मेडिकल कॉलेज।

--------

सराहा सिविल अस्पताल से नाहन रेफर किए रोगियों में डेंगू के लक्षण पाए गए हैं। पावटा के आजभोज क्षेत्र में भी एक रोगी को पावटा रेफर किया गया है। चिकित्सकों का एक दिल आजभोज क्षेत्र के लिए रवाना किया गया है। जल्द ही सराहा क्षेत्र में भी चिकित्सकों का एक दल भेजा जाएगा।

-डॉ. विनोद सागल, कार्यवाहक सीएमओ जिला सिरमौर।

Posted By: Jagran