जागरण संवाददाता, नाहन : कमल खिलना शुरू हुआ है और अब खिलता ही रहेगा। ये शब्द पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने शनिवार को पच्छाद विधानसभा क्षेत्र के नैनाटिक्कर में आयोजित जनसभा में कहे।

उन्होंने कहा कि आज मैं सिरमौर वासियों को याद दिलाने आया हूं कि 25 जनवरी, 1973 को जब सरकार ने उनसे शामलात जमीन छीनकर अपने नाम कर ली थी तो उसे जिला सिरमौर के किसानों को धूमल सरकार ने ही वापस किया था।

जिला को पहला बहुतकनीकी संस्थान, सराहां व संगड़ाह कॉलेज, आइआरबी धौलाकुआं, एसडीएम कार्यालय संगड़ाह बहुत सारे ऐसे कार्य हैं, जो भाजपा ने ही किए हैं। धूमल ने कहा कि 1998 की भाजपा सरकार में सिरमौर से कोई भी विधायक नहीं था। 2003 में पहली बार पांवटा साहिब से सुखराम चौधरी जीत कर आए। 2009 में सिरमौर की जनता ने विरेंद्र कश्यप को लोकसभा के चुनाव में भारी लीड दी। उसके बाद 2017 में जिला सिरमौर से तीन विधायक भाजपा को दिए। 2014 में कांग्रेस के एक नेता ने सिरमौर के लोगों को बिकाऊ कहा था। उसके अगले दिन मैंने सिरमौर में जनसभा कर कहा था कि सिरमौर के लोग बिकाऊ नहीं टिकाऊ हैं। धूमल ने कहा कि आज पूरी दुनिया भारत की ताकत को मान रहा है। भाजपा सरकार ने ही डॉ. यशवंत गुरुकुल योजना शुरू की थी। इससे पहले आइपीएच मंत्री महेंद्र ठाकुर ने शांता कुमार को पानी वाला मुख्यमंत्री व प्रेम कुमार धूमल को सड़कों की क्रांति वाला मुख्यमंत्री बताया। उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि आज वह क्षेत्र के गांव गांव में जाकर देख रहे हैं। क्षेत्र में पानी की समस्या ने विकराल रूप धारण किया हुआ है। ग्रामीणों ने अपनी प्लास्टिक की पाइप लगाकर पानी व सिचाई के साधन जुटाई है। लोगों ने सात बार जिस व्यक्ति को चुना वह कोई बड़ा विकास कार्य नहीं करवा पाया।

दोपहर बार धूमल ने दूसरी जनसभा लाना बाका पंचायत में की। इस अवसर पर ग्रामीण विकास पंचायती राज मंत्री वीरेंद्र कंवर, कृषि मंत्री रामलाल मार्कंडेय, खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के उपाध्यक्ष पुरुषोत्तम गुलेरिया, दून के विधायक परमजीत पम्मी, नालागढ़ के पूर्व विधायक केएल ठाकुर, पूर्व सांसद वीरेंद्र कश्यप, जिला अध्यक्ष विनय गुप्ता, राज्य कृषि विपणन बोर्ड के अध्यक्ष बलदेव भंडारी व भाजपा प्रदेश महामंत्री चंद्र मोहन ठाकुर भी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप