जागरण संवाददाता, नाहन : पेट्रोल-डीजल व एलपीजी की बढ़ती कीमत के विरोध में राष्ट्रीयस्तर पर भारत बंद के तहत सोमवार को काग्रेस ने नाहन में भी धरना-प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने जिला काग्रेस कमेटी अध्यक्ष अजय सोलंकी के नेतृत्व में दिल्ली गेट पर नारेबाजी करते हुए चक्का जाम कर दिया। पूर्व विधायक कंवर अजय बहादुर भी मौजूद रहे। काग्रेस जिलाध्यक्ष अजय सोलंकी ने कहा कि काग्रेस पार्टी की ओर से भारत बंद पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के राज में हर दिन पेट्रोल-डीजल के दाम में वृद्धि हो रही है, जिससे आम जनता पर महंगाई का बोझ बढ़ गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकसभा चुनाव से पहले 60 रुपये पेट्रोल की कीमत पर पूर्व यूपीए सरकार को कोसते थे, जबकि उस समय अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 140 डॉलर प्रति बैरल थी, लेकिन बीजेपी की सरकार 2014 में आने के बाद अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 30 डॉलर प्रति बैरल तक आई थी और अब वर्तमान में 70 डॉलर प्रति बैरल के करीब कीमत है। मगर पेट्रोल फिर भी देशभर में 80 से 84 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। डीजल 71 से 74 तक प्रति लीटर बिक रहा है। वर्ष 2013 तक रसोई गैस के सिलेंडर की कीमत 400 रुपये के करीब थी, जो अब 2018 में 900 रुपये के पार हो चुकी है। क्या मोदी सरकार का यही विकास मॉडल है। उन्होंने कहा कि भारत बंद के आह्वान से काग्रेस पार्टी का मकसद लोगों को परेशान करना नहीं है, बल्कि सरकार तक जनता की आवाज पहुंचाना है। पूर्व विधायक कंवर अजय बहादुर ने कहा कि केंद्र सरकार सारी हदें पार कर चुकी है और सारे वादे जुमला साबित हो गए हैं। अब आर-पार की लड़ाई होगी। आने वाले दिनों में अगर दाम कम नहीं हुए तो काग्रेस उग्र आदोलन करेगी। इस दौरान जिला उपाध्यक्ष रूपेंद्र ठाकुर, शिलाई मंडल अध्यक्ष सीता राम शर्मा, श्रीरेणुकाजी मंडल अध्यक्ष तपेंदर सिंह चौहान, जिला उपाध्यक्ष प्रो. बलबीर सिंह, श्रीरेणुकाजी मंडल महासचिव मित्र सिंह तोमर, जिला परिषद सदस्य चैन सिंह, प्रेमपाल चौहान, जिलाध्यक्ष एससी सेल जीएस पंवर, प्रदेश युवा काग्रेस सचिव ओपी ठाकुर, हितेंदर ठाकुर, अंकुर ठाकुर, अमित राणा आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran