शिमला, यादवेन्द्र शर्मा। सड़क पर चलते समय धूल से बचने के लिए अब मुंह ढककर चलने की जरूरत नहीं होगी। इससे होने वाली बीमारियों और पर्यावरण को दूषित होने से बचाने के लिए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने एक करोड़ रुपये की राशि जारी कर दी है। बद्दी, नालागढ़, परवाणू, सुंदरनगर और मंडी शहर के लिए सड़कों से धूल उठाने की मशीनें खरीदी जाएंगी।

बढ़ते वायु प्रदूषण और आरएसपीएम (रेस्पिरेबल सस्पेंडेड पार्टिकुलेट मैटर) को कम करने के लिए प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने सड़क की धूल उठाने के लिए मशीनें खरीदी जाएंगी। प्रदेश के कई शहरों में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा जा रही वायु प्रदूषण की जांच में आरएसपीएम का स्तर निर्धारित 60 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर से अधिक पाया गया है।

ये मशीनें सड़क की धूल को उठा नगर निकायों को लाखों रुपये की आमदनी भी देंगी। इससे उठाए जाने वाले धूल के बारीक कण इंटरलॉक टाइल बनाने में प्लास्टिक के साथ इस्तेमाल होंगे। शिमला और मंडी जिला मुख्यालयों में मशीन का ट्रायल भी सफल रहा था। यह मशीन बड़ी सड़कों में सफाई करने के साथ गलियों की छोटे मार्गों के धूल के हर कण को उठाकर इकट्ठा कर लेती है।

नौ लाख रुपये कीमत

प्रदेश में किए ट्रायल के दौरान करीब नौ लाख रुपये की लागत की मशीन ने एक लीटर पेट्रोल में आठ हजार वर्गमीटर की सफाई की थी। चार फीट चौड़ी मशीन कम जगह में भी धूल, मलबे, पत्तियों व कंकड़ को एक साथ उठा सकती है। वेक्यूम क्लीनर की तरह यह मशीन धूल और कचरे को अंदर खींचती है। नालियों को साफ करने वाले यंत्र भी इसमें लगे हैं। 

सड़कों को साफ रखने और वायु प्रदूषण के स्तर को नीचे लाने के लिए प्रदेश के पांच शहरोंमें मशीनों की खरीद के लिए एक करोड़ रुपये जारी किए गए हैं। अत्याधुनिक मशीनों के ट्रायल के सफल होने के बाद अब इन्हें सड़कों से धूल हटाने के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।

-आदित्य नेगी, सदस्य सचिव, राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोड

शहरों में वायु प्रदूषण 

शहर                आरएसपीएम का स्तर

परवाणू               120.190

बद्दी                   170.220

कालाअंब            148.163

सुंदरनगर            85.114

नालागढ़            160.220

देश के इस बड़े संस्थान की वेबसाइट हैक, शिकायत दर्ज; कार्रवाई शुरू

 केंद्रापड़ा में मिली खास प्रजाति की मछली: कीमत जान चौंक जाएंगे आप

 

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप