राज्य ब्यूरो, शिमला : मंगलवार को किन्नौर और लाहुल-स्पीति की चोटियों पर बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश हुई। लाहुल की पटन घाटी के तोजिग गांव के समीप नाले में हिमखंड गिरा। जिला परिषद लाहुल-स्पीति के अध्यक्ष रमेश रवालबा ने बताया कि हिमखंड गिरने से खेतों तक बर्फ पहुंच गई है। इससे पहले शनिवार को चंद्रा घाटी के शुलिग में हिमखंड गिरने से इस क्षेत्र का जिला मुख्यालय केलंग से संपर्क कट गया था। लाहुल घाटी में मार्च में लगातार बर्फबारी होने से जगह-जगह बर्फ के ढेर लगे हैं। मौसम विभाग ने बुधवार के लिए जारी चेतावनी को वापस ले लिया है, लेकिन चोटियों पर बर्फबारी और कुछ स्थानों पर बारिश की संभावना जताई है।

मंगलवार दिन में करीब 11 बजे बादल छाए और दोपहर दो बजे बर्फबारी व बारिश का क्रम शुरू हुआ। प्रदेश के अधिकतर क्षेत्रों में बारिश हुई। प्रदेशभर में तापमान में तीन डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई है। मौसम विभाग ने दो अप्रैल को कुछ स्थानों पर बर्फबारी व बारिश की संभावना जताई है और उसके बाद छह अप्रैल तक मौसम साफ रहने की संभावना है। मंगलवार को शिमला में सात मिलीमीटर, धर्मशाला में आठ और कुल्लू में 12 मिलीमीटर बारिश हुई।

तापमान की स्थिति डिग्री सेल्सियस में

स्थान,न्यूनतम,अधिकतम

शिमला,10.2,19.3

सुंदरनगर,9.0,22.8

भुंतर,8.0,16.9

कल्पा,3.3,13.8

धर्मशाला,9.2,18.6

ऊना,12.4,26.5

नाहन,16.5,24.2

केलंग,-2.4,5.7

----

बारालाचा व रोहतांग से वापस लौटा बीआरओ

जागरण संवाददाता, मनाली : सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) को मंगलवार दोपहर बाद फिर बर्फबारी के कारण बारालाचा व रोहतांग से वापस लौटना पड़ा। बीआरओ इन दिनों मनाली-लेह मार्ग की बहाली में जुटा है। बीआरओ कमांडर कर्नल उमा शंकर ने बताया कि मंगलवार दोपहर बाद सड़क बहाली बंद करनी पड़ी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस