मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

शिमला : मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने मंगलवार को कांग्रेस महासचिव व प्रदेश मामलों की प्रभारी अंबिका सोनी से मुलाकात की। उन्होंने सोनी को प्रदेश में कांग्रेस सरकार के चार साल पूरे होने पर धर्मशाला के निकट तपोवन के जोरावर स्टेडियम में 25 दिसंबर को होने वाली रैली में शामिल होने का न्योता दिया। दोपहर बाद सोनी से एक घंटे की मंत्रणा के दौरान प्रदेश के राजनीतिक घटनाक्रम पर चर्चा की गई।
मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह धर्मशाला में प्रस्तावित रैली में शामिल होने का न्योता कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी व उपाध्यक्ष राहुल गांधी को भी देंगे। विपक्ष व सत्तापक्ष में चल रही खींचतान से माना जा रहा है कि प्रदेश में विधानसभा चुनाव समय से पूर्व भी हो सकते हैं। इसके लिए दोनों ओर से तैयारी के दावे किए जा रहे हैं। वीरभद्र सिंह ने अंबिका सोनी के साथ भाजपा नेताओं की ओर से उछाले जा रहे मुद्दों पर भी चर्चा की। उम्मीद है कि मुख्यमंत्री दो दिन के दिल्ली प्रवास के दौरान सोनिया गांधी, राहुल गांधी व पार्टी के दूसरे नेताओं से भी मिलेंगे।
वहीं, प्रदेश कांग्रेस की दिग्गज नेता आशा कुमारी की राहुल गांधी व प्रियंका वाड्रा से भेंट ने कांग्रेस में नए समीकरण पैदा कर दिए हैं। पार्टी के भीतर चल रही हलचल से संगठन में फेरबदल होने के कयास भी लगाए जा रहे हैं। मंगलवार सुबह पांवटा साहिब दौरे से मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह सीधे दिल्ली रवाना हो गए।

सुक्खू ने डाला दिल्ली में डेरा
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखविंदर सिंह सुक्खू दो दिन से दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं। सुक्खू अभी तक आलाकमान के नेताओं से मिल चुके हैं। जिस तरह से संगठन में नियुक्तियों को लेकर टकराव रहा है, माना जा रहा है कि विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी में व्यापक बदलाव हो सकता है।

आशा की मुलाकात ने होश उड़ाए
एक के बाद एक जिम्मेदारी प्राप्त कर रही कांग्रेस नेत्री आशा कुमारी की चार दिन पहले राहुल गांधी व प्रियंका से मुलाकात ने प्रदेश के नेताओं के होश उड़ाकर रख दिए हैं। आशा पंजाब कांग्रेस की प्रभारी हैं। वह इससे पहले हरियाणा की सह प्रभारी रह चुकी हैं। यदि पिछले कुछ वर्षों के रिकार्ड को देखा जाए तो आशा छतीसगढ़ में भी अहम भूमिका निभा चुकी हैं।

Posted By: Neeraj Kumar Azad

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप