राज्य ब्यूरो, शिमला

निजी कंपनियों में किराये पर गाड़ियां लगवाने और इसे आगे सस्ते दाम में बेचने से जुड़े गिरोह ने जाली आधार कार्ड पर कई गाड़ियों की पंजाब और हरियाणा में रजिस्ट्रेशन की है। पंजाब के डेराबस्सी और हरियाणा के मोहाली में ऐसी तीन गाड़ियों का पता चला है। दो गाड़ियों का पंजीकरण शक के आधार पर रोक दिया। इस संबंध में हिमाचल विजिलेंस की कई टीमें जांच करने पड़ोसी राज्य गई हैं।

दोनों राज्यों में जांच एजेंसी रजिस्ट्रेशन एंड लाइसेंसिग अथॉरिटी (आरएलए) के रिकॉर्ड कब्जे में लेगी। जांच में पता चला है कि हिमाचल की गाड़ियों के मालिकों के नाम तो असली हैं, लेकिन इन पते जाली हैं। दूसरी बारी रजिस्ट्रेशन जाली दस्तावेजों के माध्यम से हुई है। वहीं जिस ब्रेजा गाड़ी को फिरोजपुर में एनडीपीएस एक्ट के तहत कब्जे में लिया है, उसके कागजात और बेचे जाने की भी जांच तेज हो गई है। शिकायतकर्ता इस गाड़ी को वापस लेना चाहते हैं, लेकिन यह पंजाब पुलिस की केस प्रॉपर्टी है। कई वाहनों को दिया किराये पर

गिरोह के सदस्यों पर आरोप है कि उन्होंने हिमाचल के कई वाहनों को दूसरे राज्यों में किराये पर दिया है। यह बेची नहीं गई, लेकिन कमीशन ठगों ने खाई। मालिक के हिस्से कुछ नहीं आया। उन्हें कहा कि गाड़ी कंपनी के पास है। नई खरीद के दौरान उन्हें 40 हजार से एक लाख रुपये तक दिए गए, ताकि वह फाइनांस कंपनियों की किस्तें चुका सकें।

शिमला से बिकी हैं दो और गाड़ियां

सोलन के कंडाघाट निवासी बेली राम ने शिमला से स्कॉर्पियो और इनोवा टॉप मॉडल करीब 45 लाख रुपये में खरीदी। लेकिन उनके साथ भी धोखा हो गया। शक है कि यह गाड़ियां भी बाहर बेची गई हैं। अब फाइनांस करने वाली कंपनियां बेली राम की तलाश कर रही हैं। वह पहले शिकायत करने सोलन विजिलेंस के पास पहुंचे, जहां से उन्हें शिमला भेजा। अब शिमला की विजिलेंस टीम मामले की जांच करेगी। अभी तक विजिलेंस ने तीन आरोपितों को पकड़ा है। इसमें से अभी एक सोलन, दूसरा शिमला विजिलेंस के पास रिमांड पर है। तीसरा न्यायिक हिरासत में है। वह एक दिन बाद शिमला ट्रांसफर हो पाएगा।

शिमला विजिलेंस टीम भी जाएगी पंजाब

विजिलेंस की एक टीम शिमला से भी शनिवार को पंजाब जाएगी। आरोपित अमित कुमार से हुई पूछताछ के बाद वहां से एक गाड़ी रिकवर होनी है। यह कहां पर है, इसकी भी पुख्ता सूचना है। अगर इसमें कामयाबी मिल गई तो सोलन के बाद शिमला विजिलेंस को कामयाबी मिलेगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप