जागरण संवाददाता, शिमला : नवरात्र में मंदिरों में दर्शन करने आने श्रद्धालुओं की गेट पर थर्मल स्कैनिग होगी। कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को देखते हुए जिला प्रशासन ने यह निर्णय लिया है। लोग घर पर रहकर ही दर्शन कर पाएंगे और आरती को लाइव देख सकेंगे। हर मंदिर की आरती को फेसबुक और यूट्यूब के माध्यम से लाइव दिखाया जाएगा। मंगलवार को उपायुक्त अमित कश्यप की अध्यक्षता में हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया।

प्रशासन ने गर्भवती महिलाओं, 10 वर्ष से कम आयु के बच्चों और वरिष्ठ नागरिकों को कोराना के खतरे को देखते हुए घर पर ही रहने की सलाह दी है। यदि वे मंदिर आना ही चाहते हैं तो सुबह जल्दी या शाम को देरी से आएं उस वक्त मंदिर में भीड़ नहीं होती है। मंदिर परिसर में सैनिटाइजर, स्कैनर नल और साबुन, हैंडवाश की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। मंदिरों को बंद करने की अवधि आधा से एक घंटे तक बढ़ाई जाएगी ताकि किसी प्रकार की भीड़-भाड़ से श्रद्धालुओं को बचाया जा सके।

बुखार वालों को भेजा जाएगा आइसोलेशन रूम

मंदिरों में आइसोलेशन रूम बनाया जाएगा। श्रद्धालुओं को आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करना अनिवार्य किया है। किसी भी व्यक्ति में बुखार या सर्दी व जुकाम के लक्षण हैं तो उन्हें आइसोलेशन रूम में रखा जाएगा। इसके बाद इनकी कोविड जांच की जाएगी। मंदिर के बाहर नहीं लगेंगी दुकानें

दिन में चार बार मंदिर को सैनिटाइज किया जाएगा। जाखू, तारा देवी, संकटमोचन और कालीबाड़ी मंदिर के समीप लगने वाली सभी दुकानें इस दौरान बंद रहेंगी। मंदिर परिसर और इसके बाहर श्रद्धालुओं के लिए उचित दूरी बनाए रखने के लिए गोले लगाने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। कंजक पूजन भी नहीं होगा

मंदिर में किसी प्रकार का प्रसाद व चुन्नी चढ़ाना, लेना, मूर्तियों को छूना, टीका लगाना अथवा हवन, मुंडन और कन्या पूजन आदि वर्जित रहेगा। मंदिरों में रखने वाले दानपात्र सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रखे जाएं जोकि विशेष मानक संचालन (एसओपी) नियमों के तहत तीन दिन बाद खोले जाएंगे, जिसमें नकदी की गिनती व बंडलों की पैकिग में विशेष सैनिटाइजेशन व्यवस्था के तहत की जानी आवश्यक होगी। मंदिरों के लिए चलेंगी स्पेंशल बसें

नवरात्र में हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) की बसें बस स्टैंड से तारादेवी के लिए चलेंगी। बसें आनंदपुर बाइफरकेशन से मंदिर तक आएंगी। मंदिर के लिए पार्किग व्यवस्था आनंदपुर सड़क पर की जाएगी। मंदिर जाने वाली बसों को दिन में चार बार सैनिटाइज किया जाएगा। उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को बसों में भीड़ न जमा होने और बसों में खड़े न होने के निर्देश भी दिए। उन्होंने बताया कि नवरात्र के दौरान मंदिर परिसर पर ड्यूटी पर तैनात पुलिस, एचआरटीसी और अन्य कर्मचारियों के खाने-पीने की व्यवस्था मंदिर कमेटी द्वारा की जाएगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021