शिमला, राज्य ब्यूरो। Himachal weather Update हिमाचल में पिछले दो दिन से मौसम साफ रहने के बावजूद के लोगों की दिक्कतें कम नहीं हुई हैं। बीते दिनों हुई भारी बर्फबारी के कारण शिमला के डोडराक्वार का संपर्क अभी भी कटा हुआ है।  लाहुल स्पीति में करीब 150 मुख्‍य संपर्क सड़कें बंद हैं। मौसम साफ रहा तो इन सड़कों को खोलने में अभी भी दो दिन का और समय लगने की संभावना है। वहीं किन्नौर के पूह में बिजली के नौ ट्रांसफार्मर खराब हो रखे हैं।

 मौसम विभाग ने प्रदेश में सात दिसंबर तक मौसम के साफ रहने की उम्‍मीद जतायी है। अधर, लाहुल स्पीति के केलंग में तापमान सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया है। रविवार को वहां तापमान शून्य से 12.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।  दिनभर धूप खिले के बावजूद न्यूनतम तापमान के साथ अधिकतम तापमान में दो डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज की गई है। शिमला से ज्यादा ठंडा सुंदरनगर है जहां न्यूनतम तापमान दो डिग्री जबकि शिमला का न्यूनतम तापमान 5.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है। जबकि पालमपुर में पारा 4.5 और सोलन 3.0 में डिग्री सेल्सियस रहा। 

रोहतांग दर्रे की बहाली में जुटा बीआरओ 

रोहतांग दर्रे की बहाली के लिए मनाली की ओर से सड़क बहाल करते हुए बीआरओ के डोजर ब्यासनाला के पास पहुंच गए हैं। बीआरओ गुलाबा में सड़क बहाल करते हुए ब्यासनाला को मनाली से जोड़ दिया है। उम्‍मीद जतायी जा रही है कि साेमवार को मढ़ी तक हर हाल में सड़क बहाल कर दी जाएगी। लाहुल स्पीति प्रशासन से मढ़ी व कोकसर में रेस्क्यू पोस्ट शुरू की है। मढ़ी तक सड़क बहाल होने से बचाव दल के सदस्यों को भी राहत मिलेगी। बीआरओ ने लाहुल के मार्गो को बहाल करना शुरू कर दिया है। सड़क की बहाली के बाद कोकसर से भी रोहतांग दर्रे की बहाली का काम शुरू कर दिया जाएगा। हालांकि मढ़ी मेंबर्फ कम है जबकि राहनीनाला से रोहतांग व ग्रांफू तक बर्फ अधिक है। रोहतांग बहाली के लिए शुरू हुए कार्य से लाहुल के लोग काफी खुश हैं।

गाैरतलब है कि 25 नवंबर से रोहतांग सुरंग वाहनों की आवाजाही के लिए बंद कर दी गयी थी। इसके बाद लाहुल के लोग घाटी से बाहर नहीं निकल पाए। लाहुल निवासी दोरजे व पलजोर के अनुसार रोहतांग दर्रा बर्फबारी के कारण 22 नवंबर को बंद हो गया था। बीआरओ के प्रयास के बाद एक बार फिर रोहतांग बहाली की उम्‍मीद जगी है। बीआरओ कमांडर कर्नल उमा शंकर के अनुसार दर्रे की बहाली को गति दे दी गयी है। मौसम साफ होने से काम में  तेजी आयी है। राहनीनाला से ग्रांफू तक काफी ज्यादा  बर्फबारी हुई है। मौसम ने अगर साथ दिया तो रोहतांग दर्रा एक बार फिर जल्‍द ही वाहनों के लिए बहाल कर दिया जाएगा।

 वन्य प्राणियों का शिकार किया तो होगी जेल, वन विभाग ने कसी कमर

प्रशिक्षण के बाद ही उड़ान भर पाएंगे मानव परिंदे, नियमों में हुआ बदलाव

 

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप