संवाद सहयोगी, रामपुर बुशहर : रामपुर के जोबनी बाग मोक्ष धाम में राज परिवार के श्मशानघाट में वीरभद्र सिंह के पुत्र विक्रमादित्य सिंह ने पूरे विधि-विधान के साथ किरया-कर्म की रस्में निभाई। इसके बाद वीरभद्र सिंह की अस्थियों को सोमवार सुबह उठाया गया। यह अस्थियां प्रदेश के 68 विधानसभा क्षेत्रों सहित हरिद्वार, सराहन और हालीलाज में 17 जुलाई को एक साथ विसर्जित की जाएंगी। इसके लिए एक मुख्य कलश के साथ 74 कलश बनाए गए हैं, जिन्हें दरबार परिसर में रखा गया है। इसके बाद ये अस्थियां गंगा, चंद्रभागा सहित विभिन्न झीलों में विसर्जित की जाएंगी। पूर्व मुख्यमंत्री की लोकप्रियता को देखते हुए निर्णय लिया गया है कि उनकी अस्थियों को प्रदेश के कोने-कोने में विसर्जित किया जाएगा।

शनिवार को वीरभद्र सिंह का पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया था। इसमें मुख्यमंत्री भी शामिल हुए थे। अपने चहेते नेता को अंतिम विदाई देने के लिए हजारों की संख्या में लोग मौजूद रहे। सोमवार सुबह नौ बजे स्व. वीरभद्र सिंह के पुत्र, परिवार के अन्य सदस्यों और ब्लाक कांग्रेस कार्यकर्ताओं की मौजूदगी में अस्थियां एकत्र की गई। किरया-कर्म की रस्म करीब दो घंटे तक चली। 16 जुलाई को राज परिवार से रिपु दमन कंवर और अन्य स्वजन के अलावा कई लोग हरिद्वार जाएंगे। गंगा में विसर्जन 17 जुलाई को किया जाएगा और उसी समय अन्य स्थानों पर अस्थियां विसर्जित की जाएंगी। इसके लिए संबंधित क्षेत्रों के कांग्रेस पदाधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। रामपुर से इन कलशों को भी 16 जुलाई को 68 विधानसभा क्षेत्रों के 71 ब्लाक में पहुंचाया जाएगा।

-------------------

महल के साथ पेड़ पर लटकाया मुख्य कलश

जोबनी बाग से लौटने पर मुख्य कलश को विक्रमादित्य सिंह राज दरबार परिसर लाए जहां पर पूजा करने के बाद उसे महल के साथ लगते पेड़ पर लटकाया गया। राज परिवार से मिली सूचना के मुताबिक, विक्रमादित्य 16 जुलाई को हरिद्वार के लिए रवाना होंगे और 17 जुलाई को वहां से लौटेंगे। इसके बाद 18 जुलाई को राज दरबार में आयोजित होने वाली पूजा में भाग लेंगे।

------------------

15 को 11 बजे राजीव भवन में होगी विशेष प्रार्थना सभा

जागरण संवाददाता, शिमला : वीरभद्र सिंह की आत्मा की शांति के लिए कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में 15 जुलाई को सुबह 11 बजे विशेष प्रार्थना सभा होगी। इसमें प्रदेश कांग्रेस के सभी नेता, विधायक, पूर्व विधायक, पार्टी पदाधिकारी, जिलाध्यक्ष, ब्लाक अध्यक्षों की उपस्थिति अनिवार्य रखी गई है। इसके अतिरिक्त पार्टी के सभी अग्रणी संगठनों सेवादल, युवा कांग्रेस, महिला कांग्रेस, एनएसयूआइ सभी विभागों के पदाधिकारियों को भी शामिल होने को कहा गया है। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में 15 जुलाई को वीरभद्र सिंह के अस्थि कलश को श्रद्धासुमन अर्पित करने के बाद जिला कांग्रेस अध्यक्षों की मौजूदगी में सभी 71 ब्लाक अध्यक्षों को एक-एक अस्थि कलश प्रदान किया जाएगा जो ब्लाक में पावन सरोवरों में विसर्जन करेंगे, ताकि लोग प्रिय नेता को श्रद्धांजलि दे सकें।

Edited By: Jagran