मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

शिमला, जेएनएन। पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने शिमला के रिज मैदान पर अन्य महिलाओं के साथ करवाचौथ का व्रत रखा था। हिमाचल भाजपा प्रभारी रहते हुए उन्होंने पार्टी नेता विमला कश्यप व रूपा शर्मा के साथ वर्ष 1993 में रिज मैदान पर चांद का दीदार कर अपना व्रत खोला था। रूपा शर्मा के अनुसार सुषमा स्वराज ने रिज पर करवाचौथ मनाने के लिए जुटी महिलाओं को देखकर कहा था कि वह देशभर में घूमी हैं। लेकिन जिस तरह रिज मैदान पर महिलाएं एक साथ चांद का दीदार कर व्रत खोलती हैं, ऐसा देश में और कहीं नहीं होता है। सुषमा स्वराज ने वर्ष 1989 में आइस स्केटिंग रिंक  शिमला में करीब 50 मिनट कर चुनावी रैली को संबोधित किया था। शिमला में यह उनका पहला बड़ा भाषण था। अपने शब्दजाल से उन्होंने सभी को मोहित कर दिया था।

सुषमा स्वराज वाजपेयी सरकार में मंत्री रहते हुए शिमला में दूरदर्शन के कार्यक्रम में शामिल होने आई थीं। उन्होंने इस कार्यक्रम के अलावा सोलन में भाजपा महिला मोर्चा के कार्यक्रम में भी हिस्सा लिया था। इस कार्यक्रम में उन्हें भाजपा की तत्कालीन महिला मोर्चा की अध्यक्ष वीना ठाकुर ने सम्मानित किया था।

 

गणेश दत्त व प्रवीण शर्मा से नाराज हो गई थीं सुषमा करवाचौथ के व्रत के दिन शिमला के होटल होलीडे होम में ठहरी हुई सुषमा स्वराज को प्रेस वार्ता के लिए आशियाना जाना था। उन्हें लाने का कार्य भाजपा नेता गणेश दत्त व प्रवीण शर्मा को सौंपा गया। दोनों उन्हें पैदल ही रिज मैदान पर ले आए। इस कारण वह गणेश दत्त व प्रवीण शर्मा से नाराज हो गई थीं। उन्होंने कहा कि वह शुगर की मरीज हैं और उनका व्रत भी है। ऐसे में उन्हें पैदल लाकर पाप क्यों किया? हालांकि बाद में उन्होंने कहा कि आप दोनों मेरे छोटे भाई की तरह हैं, इसलिए डांट लगा दी थी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Babita kashyap

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप