जागरण संवाददाता, शिमला : करीब दो महीने के अवकाश के बाद राजधानी के स्कूलों में सोमवार को फिर से विद्यार्थियों की चहल-पहल शुरू हो गई। सोमवार से सभी निजी स्कूलों में कक्षाएं शुरू हो गई हैं। ऐसे में करीब दो महीने बाद विद्यार्थियों से स्कूलों में रौनक बढ़ गई है। हालाकि कुछ स्कूल 19 फरवरी को खुल गए थे, लेकिन सोमवार को सभी स्कूल खुल गए हैं। स्कूलों में पहले दिन विद्यार्थियों में खासा उत्साह दिखा। राजधानी के ताराहाल, चैलसी, डीएवी न्यू शिमला, डीएवी लक्कड़ बाजार स्कूल में कक्षाएं शुरू कर दी गई हैं। विद्यार्थियों ने एक-दूसरे से छुट्टियों के अनुभव भी साझा किए। स्कूल व कॉलेज खुलने के साथ ही शहर में भी हलचल बढ़ गई थी। लंबी छुट्टियों के बाद सोमवार को स्कूल व कॉलेज पहुंचे विद्यार्थियों ने छुट्टी के बाद रिज और माल रोड पर घूमने का भी खूब आनंद उठाया।

पहले ही दिन जाम से जूझे

अवकाश के बाद स्कूल लौटे विद्यार्थियों को पहले दिन घर से निकलते ही सड़कों पर जाम से जूझना पड़ा। उपनगर संजौली, बालूगंज में जाम का सामना छात्रों को करना पड़ा, जिस कारण स्कूल पहुंचने में भी देरी हो गई। शिमला की सड़कों पर स्कूल खुलते ही ट्रैफिक का दबाव बढ़ जाता है, जिस कारण जाम की समस्या पैदा हो जाती है। अब शहर में जाम की समस्या फिर से विकराल हो जाएगी।

बस पास बनवाने के लिए लगी कतारें

स्कूल व कॉलेज खुलते ही सोमवार को बस अड्डा शिमला में विद्यार्थियों को पास बनाते हुए देखा गया। शिमला के पुराने बस अड्डे में विद्यार्थियों की कतारें लगी रहीं। वहीं, हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) ने सभी विद्यार्थियों की सुविधा के लिए एक तिथि रखी है कि सप्ताह के तीन दिन बस पास बनाए जाएंगे।

Posted By: Jagran