जागरण संवाददाता, शिमला : राजधानी शिमला के कच्ची घाटी स्थित शैमरॉक रोजेंस स्कूल ने ग्रैंड पेरेंट्स डे शनिवार को धूमधाम से मनाया। इस अवसर पर स्कूल द्वारा बच्चों के दादा-दादी और नाना-नानी को स्कूल में बुलाया गया था। बुजुर्गो के साथ बच्चों ने खूब मस्ती की।

स्कूल प्रधानाचार्य प्रीति चुट्टानी ने बच्चों को बताया कि दादा-दादी और पोता-पोती के बीच के संबंध शब्दों में वर्णित नहीं किए जा सकते। दादा-दादी न केवल बच्चों में अच्छी आदतें और नैतिक मूल्यों को विकसित करते हैं बल्कि असीमित आनंद उठाने के लिए उनके सबसे अच्छे दोस्त भी बन जाते हैं।

दुर्भाग्य से अलग-अलग परिवारों को बसाने की बढ़ती प्रवृत्ति ने पोता-पोती और दादा-दादी के बीच संपर्क को सीमित कर दिया है, इस वजह से दोनों ही इस रिश्ते का भरपूर लुत्फ नहीं उठा पाते।

इस अवसर पर बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए। इसकी उपस्थित दर्शकों ने प्रशंसा की। इसके अलावा बेस्ट ग्रेड फादर और बेस्ट ग्रेंड मदर के पुरस्कार के भी नवाजा गया।

Posted By: Jagran