संवाद सहयोगी, रामपुर बुशहर : बारिश के कारण रामपुर-गौरा संपर्क मार्ग बाधित होने से बागवानों की चिता बढ़ने लगी है। भूस्खलन की चपेट में आने से सड़क का काफी बड़ा हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया है। इससे यहां पर सभी वाहनों की आवाजाही बंद हो चुकी है। वहीं सड़क बंद होने से लोक निर्माण विभाग की परेशानी भी बढ़ गई है। हालांकि अभी वाहनों को वाया शिगला, घराट और उच्ची शाह होकर भेजा जा रहा है।

इस सड़क को बहाल करने में करीब दो सप्ताह का समय लग सकता है। ग्रीन वैली के तहत इस सड़क का प्रयोग गौरा, मशनू, दोफदा, गोपालपुर, किन्नू, मघारा और डोबी गांव के हजारों ग्रामीणों द्वारा किया जाता है। वहीं कुछ ही दिन में सेब सीजन शुरू होने वाला है और यहां से लाखों पेटी सेब मंडियों के लिए इसी सड़क से भेजा जाता है। हालांकि लोक निर्माण विभाग ने मशीनों और मजदूरों की मदद से सड़क को ठीक करने का काम शुरू कर दिया है। यदि सड़क को बहाल होने में समय लगता है तो बागवानों को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ सकता है। बागवानों ने लोक निर्माण विभाग से मांग की है कि इस सड़क को सेब सीजन शुरू होने से पहले बहाल किया जाए। सड़क को जल्द बहाल कर दिया जाएगा। इसके लिए विभाग की मशीनरी और मजदूरों द्वारा युद्धस्तर पर काम किया जा रहा है। बारिश के कारण सड़क का काफी हिस्सा भूस्खलन की चपेट में आ गया है, जिस कारण वाहनों की आवाजाही रोक दी गई है।

- चंद्र कश्मीरी, एसडीओ, लोक निर्माण विभाग रामपुर।

Edited By: Jagran