जागरण संवाददाता, शिमला : शिक्षण संस्थान खोलने के लिए केंद्र सरकार ने राज्यों को अधिकृत कर दिया है। हालांकि कोरोना महामारी के खतरे को देखते हुए प्रदेश सरकार शिक्षण संस्थानों को खोलने में कोई जल्दबाजी नहीं करेगी। हालात कुछ सामान्य होने पर ही स्कूल खोले जाएंगे। कॉलेज और विश्वविद्यालयों में नया सत्र एक सितंबर से शुरू कर दिया जाएगा। जून से अगस्त तक परीक्षाएं, रिजल्ट और दाखिले की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने मंगलवार को शिमला में पत्रकारों से बातचीत की। कहा कि शिक्षण संस्थानों को खोलने के लिए विभाग कई विकल्पों पर कार्य कर रहा है।

फिलहाल प्राइमरी कक्षाओं को शुरू नहीं किया जाएगा। 10वीं और 12वीं के विद्यार्थियों को स्कूल बुलाया जा सकता है। अन्य कक्षाओं की पढ़ाई हालात सामान्य होने तक ऑनलाइन ही होगी। इसके अलावा अलग-अलग सेक्शन बनाकर और वैकल्पिक दिवस में भी विद्यार्थियों को बुलाने पर विचार किया जा रहा है। सुरेश भारद्वाज ने कहा कि शिक्षा के एग्जिट प्लान को तैयार करने के लिए सभी की राय ली जाएगी। अभिभावकों, प्रधानाचार्यो, कुलपति और निजी स्कूल प्रबंधकों की राय ली जाएगी। जरूरत पड़ी तो वीडियो कांफ्रेंसिग के तहत इनके साथ बात की जाएगी।

-------

10वीं कक्षा का परिणाम जल्द

शिक्षा मंत्री ने कहा कि दसवीं कक्षा का परिणाम जल्द निकाला जाएगा। आठ जून को भूगोल का पेपर होने के जमा दो कक्षा का परिणाम भी इसी माह अंत तक निकाला जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के साथ प्रदेश में विद्यार्थियों की पढ़ाई जारी रहे इसके लिए सरकार द्वारा गंभीरता से प्रयास किए जा रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस