संवाद सूत्र, नेरवा : एसएचओ नेरवा कुलवंत सिंह कंवर की अध्यक्षता में नेरवा थाना में नशा निवारण पर बैठक हुई। बैठक में पंचायतों के प्रतिनिधि, व्यापार मंडल नेरवा के सदस्य व लोग शामिल हुए। नशे के कारोबार पर रोक लगाने के लिए नशा निवारण कमेटी का गठन किया गया। एसएचओ नेरवा कुलवंत कंवर को कमेटी का महासचिव, मुख्य आरक्षी शरीफुद्दीन और मुख्य आरक्षी सोहन सिंह को सचिव नियुक्त किया गया। इसी प्रकार व्यापार मंडल नेरवा के अध्यक्ष राजीव भिख्टा, उपाध्यक्ष दिनेश अमरेट, सुरेश सूद, सुरेश रंजन, स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मेघा, जिला परिषद सदस्य नेरवा वार्ड वीना पोटन, पूर्व प्रधान एवं मानु भविया के बीडीसी सदस्य मनोहर शर्मा, मालत देइया वार्ड की बीडीसी सदस्य अनीता गाग, रमला, श्याम डमाल, जगदीश सूद, नेरवा स्कूल के प्रवक्ता सुशील दफराइक, मोहर सिंह, नितेश दफराइक, आरक्षी भूरा खान, राजेश कुमार, बलवीर सिंह, सुदर्शन, सुरेंद्र सिंह, दिगेंद्र व सुरेंद्र को नशा निवारण समिति का सदस्य नियुक्त किया।

बैठक में व्यापारी रवि सूद, संजू शेख, बलदेव तंगड़ाईक आदि भी मौजूद रहे। एसएचओ नेरवा कुलवंत कंवर ने कहा कि क्षेत्र के युवा नशे के दलदल में फंसते जा रहे हैं, जोकि चिंता का विषय है। युवाओं में बढ़ती नशे की प्रवृत्ति और इसके कारोबार को रोकने के लिए समाज के प्रत्येक वर्ग को आगे आना पड़ेगा। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि नशे के कारोबार में संलिप्त व्यक्ति की सूचना पुलिस को दें व किशोरावस्था में अपने बच्चों की गतिविधियों पर नजर रखें, बच्चों की दिनचर्या पर भी विशेष ध्यान दें। यदि बच्चे की गतिविधियों में बदलाव नजर आए तो इसकी तहकीकात करें कि बच्चा कहीं गलत संगत में फंसकर नशे की तरफ आकर्षित तो नहीं हो रहा है।

Posted By: Jagran