राजधानी शिमला के लक्कड़ बाजार में लोगों की आवाजाही जारी थी। लोग गंतव्य की ओर बढ़ रहे थे। वीरवार को हल्की बारिश के बीच बाजार में लोगों की खासी भीड़ नजर आई। रिज से लेकर लक्कड़बाजार पुलिस चौकी के बीच लोगों की काफी आवाजाही रही। पर्यटक खरीदारी करते लापरवाह दिखे तो स्थानीय लोग बच्चों को लेकर बाजार घूमने पहुंचे हुए थे। महिलाएं भीड़ के रूप में खरीदारी करती नजर आ रही थीं। वहीं दुकानदार ग्राहकों को आकर्षित करने में जुटे हुए थे।

बाजार में लकड़ी की चीजें खरीदने के लिए पर्यटक जुटे हुए थे। दुकानों में हैंड सैनिटाइजेशन के कोई इंतजार नहीं दिखे। कोरोना संकट में शहर के लक्कड़बाजार सहित लोअर बाजार में लोगों की भीड़ बढ़ने लगी है। इससे संक्रमण बढ़ने का खतरा भी बढ़ रहा है।

प्रस्तुति : जागरण संवाददाता, शिमला। कुछ लोग औपचारिकता के तौर पर पहन रहे मास्क

बाजार में शारीरिक दूरी के नियमों का पालन नहीं हो पा रहा है। ऐसे में कोरोना संक्रमण के बढ़ने की संभावना बढ़ गई है। हालांकि बाजार में सभी लोग मास्क पहने हुए थे, लेकिन कुछ लोगों ने औपचारिकता के तौर पर गले में मास्क लटकाए हुए थे। पुलिस कर रही लोगों को जागरूक

रिज व मालरोड पर पुलिस कर्मी लोगों को संक्रमण से बचाव के लिए जागरूक करते हैं। इसके बावजूद लोग मानने को तैयार नहीं हैं। रिज व मालरोड पर घूमते पर्यटक मास्क पहनने से खासा परहेज करते हैं। जगह-जगह सेल्फी व फोटो खींचने के लिए पर्यटक मास्क हटा लेते हैं और नियमों का पालन नहीं करते। शिमला में इन दिनों वीकेंड के अलावा बाकी दिनों में भी पर्यटकों की भीड़ बढ़ती जा रही है। शिमला के सुहावने मौसम का आनंद लेने के लिए पर्यटक हजारों की संख्या में यहां पहुंच रहे हैं। लक्कड़बाजार के बैंच पर थकान मिटा रहे लोग

जिला प्रशासन ने एहतियात बरतते हुए रिज मैदान में भीड़ न जुटने देने के कारण बैंच हटा दिए हैं। अब रिज पर बैठने के लिए कोई सुविधा नहीं रह गई है। वहीं लक्कड़बाजार से प्रशासन ने अभी बैंच नहीं हटाए हैं तो लोग इन बैंचों पर बैठकर अपनी थकान मिटा रहे हैं। लक्कड़बाजार में सड़क के एक ओर बैंच लगाए गए हैं।

Edited By: Jagran