जागरण संवाददाता, शिमला : इंदिरा गांधी मेडिकल कालेज (आइजीएमसी) में इलाज करवाने आने वाले मरीज अब इलाज संबंधी फीडबैक अस्पताल प्रशासन को दे सकेंगे। इसके लिए अस्पताल प्रशासन ने विशेष कदम उठाया है। कैजुअल्टी, वार्ड और ओपीडी के बाहर तैनात सुरक्षाकर्मी के पास पुस्तिका मौजूद रहेगी। इसमें मरीज और तीमारदार इलाज संबंधी फीडबैक दे सकेंगे। इसमें मरीज इलाज को लेकर पाई गई अनियमितता को लेकर अस्पताल प्रशासन से सीधे शिकायत कर सकते हैं।

अस्पताल में रोजाना दो से तीन हजार मरीज इलाज करवाने पहुंचते हैं। अस्पताल में अत्यधिक भीड़ होने के कारण कई बार मरीजों को इलाज के लिए काफी परेशान होना पड़ता है। ऐसे में अस्पताल प्रशासन तक अपनी बात पहुंचाने व व्यवस्था में सुधार लाने की सलाह को लेकर मरीज और तीमारदार अभी तक अस्पताल से सीधा संपर्क नहीं हो पाता था। उम्मीद जताई जा रही है कि शिकायत पुस्तिका में शिकायत दर्ज करने के बाद व्यवस्थाओं में और सुधार किया जाएगा।

अस्पताल के एमएस डा. जनक राज ने बताया कि अगर मरीज के उपचार से संबंधित कोई शिकायत है तो सिक्योरिटी गार्ड के पास मौजूद शिकायत पुस्तिका पर जरूर अपनी शिकायत दर्ज करें। ताकि प्रशासन समस्या के निवारण के लिए उचित कार्रवाई अमल में ला सके। कार्रवाई की सूचना प्रशासन आपको दे सके, इसके लिए मरीज व तीमारदार को अपना मोबाइल नंबर लिखना होगा। उन्होंने अपील की कि अस्पताल स्टाफ के साथ सौहार्दपूर्ण व्यवहार को प्राथमिकता दें। कैंसर अस्पताल के लिए रास्ते का काम कल से होगा शुरू

कार्टरोड से लेकर कैंसर अस्पताल के कीमौथैरेपी सेंटर के लिए सड़क का अंतिम चरण का काम 16 से 21 अक्टूबर को होगा। इसलिए सभी को इस दौरान वैकल्पिक मार्ग का इस्तेमाल करना होगा।

Edited By: Jagran