प्रकाश भारद्वाज, शिमला

भाजपा सरकार के मंत्रियों का दिल फा‌र्च्यूनर पर आ गया है। तीन मंत्रियों को हाल ही में ये कारें मिल गई हैं, जबकि छह और ने इसकी मांग की है। एक फा‌र्च्यूनर कार की कीमत 32 लाख रुपये बताई जा रही है। पूर्व कांग्रेस सरकार में मंत्रियों के पास कैमरी कारें थी।

भाजपा सरकार के छह मंत्रियों ने सामान्य प्रशासन विभाग (जीएडी) को लिखकर दिया है कि उनकी पुरानी हो चुकी कैमरी कारें बदल दो। ये तीन लाख किलोमीटर से अधिक चल चुकी हैं। इन्होंने फा‌र्च्यूनर यानी स्पो‌र्ट्स फा‌र्च्यूनर ट्रक की मांग रखी है। किसी भी लग्जरी कार की तुलना में फा‌र्च्यूनर अधिक आरामदायक है। इसमें सफर करने पर थकान का एहसास नहीं होता। कांग्रेस सरकार के समय में मंत्रियों के लिए लग्जरी कैमरी कारें खरीदी थीं। पांच साल पहले खरीदी गई प्रत्येक कैमरी कार की कीमत 27 लाख रुपये थी।

सरकार ने दो लाख किलोमीटर चलने के बाद इस कार को बदलने का प्रावधान रखा है। इस समय जो मंत्री इसका इस्तेमाल कर रहे हैं वे तीन लाख किलोमीटर से अधिक चल चुकी हैं। सरकारी तौर पर इस्तेमाल होने वाली फा‌र्च्यूनर आठ किलोमीटर प्रति लीटर की माइलेज दे रही है। पूर्व कांग्रेस सरकार के समय मुख्यमंत्री के पास फा‌र्च्यूनर थी। जिसे सत्ता परिवर्तन के बाद हिमाचल भवन दिल्ली भेज दिया गया था। उसके बाद मुख्यमंत्री के लिए नई फा‌र्च्यूनर खरीदी गई थी। भाजपा सरकार में चार नई फा‌र्च्यूनर खरीदी जा चुकी हैं। जीएडी को शीघ्र छह और कारें खरीदने के लिए मंत्रियों की ओर से दबाव डाला जा रहा है। कैमरी कारें सरकार के आला अधिकारियों को चली जाएंगी। यदि सरकार में मुख्य संसदीय सचिव (सीपीएस) की नियुक्तियां हुई होती, तो ये उन्हें जानी थी।

-----------

इन मंत्रियों ने मांगी फा‌र्च्यूनर

सुरेश भारद्वाज, विपिन सिंह परमार, वीरेंद्र कंवर, डॉ. राजीव सैजल, सरवीण चौधरी व डॉ. रामलाल मार्कंडेय ने जीएडी को लिखकर दिया है कि उन्हें फा‌र्च्यूनर दी जाए। पुरानी कैमरी कार तय क्षमता से अधिक चल चुकी हैं।

-------------

इन मंत्रियों को मिली

सरकार के तीन मंत्रियों किशन कपूर, अनिल शर्मा व गोविंद सिंह ठाकुर को नई फा‌र्च्यूनर मिली है। इनके पास कैमरी कारें थी।

------------

महेंद्र व विक्रम के पास पहले से हैं

महेंद्र सिंह ठाकुर व विक्रम सिंह के पास फा‌र्च्यूनर हैं। ये पूर्व कांग्रेस सरकार के समय खरीदी गई थी। कांग्रेस सरकार में कौल सिंह ठाकुर व ठाकुर सिंह भरमौरी के पास फा‌र्च्यूनर थी।

Posted By: Jagran