सुनील ग्रोवर, ठियोग

गत दिनों हुए हिमपात से लोक निर्माण मंडल ठियोग को करीब एक करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। यहां पर ग्रामीण सड़कों से बर्फ हटाने व क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत पर विभाग को आर्थिक भार बढ़ा है। ठियोग उपमंडल में हुए हिमपात व बारिश से ग्रामीण सड़कों को काफी नुकसान हुआ है। हिमपात के बाद ठियोग में लोक निर्माण विभाग के 20 से अधिक रूटो पर बस सेवा बहाल हो चुकी है, लेकिन पटींनल, भाज, खाशधार, शर्मला, सरोग, कदयोग, बासा महोग सहित कई सड़कों पर अभी फिसलन होने के कारण बस सेवा बहाल होने में परेशानी आ रही है।

धर्मपुर रूट पर केल्वी के पास सड़क टूट जाने के कारण बस ट्रांसमिट कर चलाई जा रही है इसके कारण लोगों को काफी परेशान होना पड़ रहा है। उधर बसों में यात्रियों की कमी के कारण परिवहन निगम और निजी बस संचालकों को घाटा उठाना पड़ रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों के बस रूट प्रभावित

हिमपात हुए एक सप्ताह बीत चुका है लेकिन ठियोग उपमंडल की ग्रामीण सड़कों से बर्फ न हटने के कारण सड़कें फिसलन भरी हैं। इन पर सफर करना जान जोखिम में डालना है। इस वजह से निगम की बसें छह रूटों पर नहीं जा पा रही हैं, जिससे जहां परिवहन निगम को घाटा झेलना पड़ रहा है, वहीं लोगों की मुश्किलें भी बढ़ी हुई हैं। लोगों को ठियोग पहुंचने व सरकारी कामकाज के लिए आने में दिक्कतें पेश आ रही हैं। मंडल की अधिकतर ग्रामीण सड़कों पर यातायात बहाल कर दिया गया है। हिमपात के कारण लगभग एक करोड़ से ऊपर का नुकसान हुआ है। सभी 36 बस रूटों से बर्फ हटा दी गई है और क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत का कार्य जारी है। कई सड़कों पर डंगे भी गिरे हैं। भविष्य में हिमपात से निपटने के लिए व्यापक इंतजाम किए गए हैं। विभाग ने सड़कों को तुरंत साफ करने के लिए 15 से अधिक जेसीबी लगाई हैं। विभाग फिसलन वाले स्थानों पर मिट्टी और रेत स्टोर कर रहा है ताकि हिमपात के बाद यातायात प्रभावित न हो।

- विजय कुमार, एक्सईएन, लोक निर्माण विभाग ठियोग मंडल।

Edited By: Jagran