शिमला, जेएनएन। राजधानी शिमला में कड़ाके की ठंड हो गई है। कोई जैकेट पहन रहा है तो कोई दो-दो जर्सी। इस बीच शिमला के युवा फैशन के साथ ठंड से बचने के लिए मफलर को पसंद कर रहे हैं। युवाओं के गले में रंग-बिरंगे मफलर नजर आ रहे हैं। बाजार में भी मफलर की कई वैरायटी आ चुकी हैं। बॉलीवुड में जो ड्रेस स्टाइल चलता है, वही फैशन के रूप में चलन में आ जाता है।

फिल्मी दुनिया के 70 के दशक की बात करें तो अभिनेता देवानंद ने गले में मफलर डालकर युवाओं में इस फैशन को पॉपुलर किया। उसके बाद मफलर बुजुर्गो के गले में सर्दी से बचाते हुए देखा गया, लेकिन अब युवा स्टार रणबीर कपूर और शाहिद कपूर ने मफलर को डाला तो युवा एक बार फिर इसके लिए दीवाने हो गए हैं। मफलर पहनने का भी अलग-अलग स्टाइल है।

आज सड़कों पर निकलो तो बाइक पर दिखने वाले युवाओं के गले में मफलर नजर आएगा, यानि सर्दी के बचाव के साथ फुल फैशन। मफलर का फैशन लौटा तो बाजार में इसकी कई वैरायटिया भी आ गई। शिमला के लक्कड़ बाजार, लोअर बाजार और मालरोड में कई अलग-अलग मफलर मिल रहे हैं, हां इस बार मफलर में थोड़ा बदलाव इसकी लंबाई में किया गया है। पहले जहां मफलर बमुश्किल आधा मीटर का होता था, वहीं आज लंबाई एक से सवा मीटर की है, यानि गले में चार लपेटे आ जाएं और सीने पर भी लटकता रहे।

150 से एक हजार रुपये तक में उपलब्ध वैसे तो विभिन्न दुकानों पर मफलर उपलब्ध हैं, लेकिन शिमला के लक्कड़ बाजार में फुटपाथ पर इसकी आकर्षक वैरायटिया उपलब्ध हैं। यहां 150 रुपये तक के मफलर हैं। शिमला की प्रसिद्ध दुकान बुट्टिको में मफलर की विभिन्न वैरायटी उपलब्ध हैं। जहां यह देखने में पारंपरिक हैं, वहीं अधिक आकर्षक और गर्म भी हैं। 600 से 1000 रुपये तक के मफलर यहां उपलब्ध हैं।