जागरण संवाददाता, शिमला : राजधानी शिमला के यूएस क्लब के समीप वीरवार देर रात भूस्खलन हो गया। इसके अलावा रिज माउंट के समीप से सड़क धंस गई। सड़क के धंसने से मलबा निचली मुख्य सड़क तक पहुंच गया है। इससे दोनों सड़कों में सुबह से वाहनों की आवाजाही बंद है।

यहां पर वीरवार देर शाम से ही हल्का मलबा गिरने लगा था तो पुलिस जवानों ने वाहनों समेत लोगों की आवाजाही रात से ही बंद करवा दी थी। देर रात हुई बारिश के कारण रिच माउंट की सड़क का एक हिस्सा पूरा नीचे आ गया है। हालांकि प्रशासन ने मलबे को हटाने का काम शुरू कर दिया है। सुबह 11 बजे के बाद निचली सड़क से मलबा हटा दिया। इसके बाद वाहनों की आवाजाही शुरू हो सकी। भूस्खलन के कारण सड़क किनारे लगी रेलिग भी टूट गई है। पहाड़ियों से गिर रहा मलबा व पत्थर

शिमला में कई दिन से लगातार बारिश होने से सड़कों के किनारे पहाड़ियों से मलबा व पत्थर गिर रहे हैं। ऐसे में लोगों की आवाजाही मुश्किल हो गई है। इसके अलावा कई स्थानों पर सड़क किनारे मौजूद पेड़ भी खतरा बने हुए हैं। शिमला में हर साल बरसात के मौसम में भूस्खलन के कारण लाखों रुपये का नुकसान हो जाता है। यूएस क्लब के अलावा शहर को आने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर शोघी से समीप पिछली रात जिस वाहन पर पत्थर गिरे, उन लोगों को आइजीएमसी अस्पताल लाया गया है। पंथाघाटी में भी भूस्खलन के चलते एक भवन को खतरा बना है। यहां बुधवार को शाम के समय भूस्खलन होने से डंगा गिर गया था। लग रहे अघोषित कट

लगातार बारिश के बीच वीरवार देर रात से शिमला के कई स्थानों पर अघोषित बिजली कट लग रहे हैं। बारिश के कारण पेड़ों की टहनियां गिरने से कई जगह बिजली के पोल भी क्षतिग्रस्त हुए हैं, इससे बिजली आपूर्ति बाधित हुई है। इसके अलावा पानी की सप्लाई भी नियमित तौर से नहीं हो रही है। पानी की परियोजनाओं में गाद आने के कारण आगामी कुछ दिनों तक कई क्षेत्रों में पानी की आपूर्ति बाधित होने की आशंका जताई जा रही है।

Edited By: Jagran