राज्य ब्यूरो, शिमला : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने दिल्ली में केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावडे़कर से मुलाकात की। जयराम ने केंद्रीय मंत्री से आग्रह किया कि देहरा व धर्मशाला में स्थापित हो रहे केंद्रीय विश्वविद्यालय की आधारशिला रखने के लिए समय दिया जाए, ताकि इन दोनों स्थानों पर केंद्रीय विश्वविद्यालय स्थापित करने का कार्य शुरू हो सके। प्रदेश में अधिक केंद्रीय विद्यालय खोलने का मामला उठाया, ताकि शिक्षा के क्षेत्र में अधिक काम हो सके। हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय के अंतरराष्ट्रीय दूरवर्ती शिक्षण एवं मुक्त अध्ययन केंद्र इक्डोल की मान्यता के मुददे को भी केंद्रीय मंत्री के समक्ष रखा। इस पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडे़कर का कहना था कि सरकार छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं होने देगी। दूरवर्ती शिक्षा का मामला विचाराधीन है, केंद्र सरकार उपयुक्त निर्णय लेगी। इक्डोल की मान्यता के मुद्दे पर चर्चा की। उन्होंने आश्वासन दिया कि इस मुद्दे को जल्द ही हल किया जाएगा। इक्डोल को अपनी ग्रेडिंग सुधारने के लिए दो साल का समय मिला है। आगामी दो साल में ग्रेडिंग में सुधार लाने के लिए उचित कदम उठाने होंगे। अभी इक्डोल में शैक्षणिक सत्र 2018-19 के दौरान प्रवेश प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई है। यूजीसी की अनुमति मिलते ही प्रक्रिया शुरू हो पाएगी। इक्डोल में वर्तमान में चल रहे विभिन्न कोसरें में विद्यार्थी प्रवेश ले सकेंगे।

Posted By: Jagran