शिमला, राज्य ब्यूरो। बर्फबारी से बंद सड़कों के कारण मतदान प्रभावित न हो इसके लिए निर्वाचन विभाग ने कमर कस ली है। निर्वाचन विभाग ने सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) और लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) को बंद सड़कों को जल्द खोलने के आदेश दिए हैं, ताकि मतदान सामग्री ले जाने में दिक्कत न हो। फिर भी अगर कहीं दिक्कत आई तो दुर्गम क्षेत्रों में र्पोंलग पार्टियां हेलीकॉप्टर से पहुंचाई जाएंगी। 

प्रदेश के जनजातीय जिला लाहुल-स्पीति के कुछ क्षेत्रों में अभी सड़कें बंद हैं। इसी तरह से शिमला जिला के तहत आने वाला डोडरा क्वार दुर्गम क्षेत्र बाधित हो गया था। प्रदेश के जनजातीय दो जिलो किन्नौर व लाहुल-स्पीति में बर्फबारी से बाधित सड़कें खोलने के लिए चुनाव विभाग ने सीमा सड़क संगठन और लोक निर्माण विभाग को लिखा है। बीआरओ ने 20 अप्रैल तक रोहतांग दर्रा खोलने का भरोसा दिलाया है। अभी तक भरमौर, पांगी क्षेत्रों को जोड़ने वाले मार्गों को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है। प्रदेश सरकार व सीमा सड़क संगठन के अधिकारियों के साथ बैठकें हो चुकी हैं हैं।

लोकसभा चुनाव के लिए मतदान में कोई दिक्कत न आए इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं। लाहुल-स्पीति, पांगी समेत अन्य दुर्गम क्षेत्रों में बंद सड़कों को 20 अप्रैल तक बहाल करने को कहा गया है। यदि जरूरी हुआ तो हेलीकॉप्टर की सेवाएं भी ली जाएंगी। चुनाव के लिए सभी प्रबंध सुनिश्चित किए जा रहे हैं। 

सभी मतदान केंद्रों के लिए तीन दिन पहले पोलिंग पार्टियों को भेजने की व्यवस्था रहेगी 

 देवेश कुमार, मुख्य चुनाव अधिकारी हिमाचल

सात मई से उपलब्ध होगी एयर एंबुलेंस

प्रदेश सरकार का हेलीकॉप्टर एयर एंबुलेंस के तौर पर इस्तेमाल होगा। सरकार ने मुख्यमंत्री द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले हेलीकॉप्टर को निर्वाचन विभाग को सौंपने का निर्णय लिया है। सरकार का हेलीकॉप्टर सात मई को अनाडेल मैदान में खड़ा हो जाएगा। जहां पर स्वास्थ्य अधिकारियों की टीम के साथ आवश्यक स्वास्थ्य सामग्री हेलीकॉप्टर में उपलब्ध रहेगी। यह हेलीकॉप्टर मतदान तक चुनाव विभाग के पास रहेगा।

Posted By: Babita