शिमला, जेएनएन। बागवानों से सेब खरीदकर उनके पैसे न देकर ठगी करने के मामले में सीआइडी की एसआइटी ने नई दिल्ली व चंडीगढ़ के पांच आढ़तियों से मंगलवार को शिमला में करीब पांच घंटे तक पूछताछ की। आढ़तियों ने बागवानों की राशि लौटाने की बात कही है। एसआइटी ने इस मामले में अब तक 40 आढ़तियों से करीब डेढ़ करोड़ रुपये लेकर बागवानों को लौटा दिए हैं। आढ़तियों से मंगलवार को पूछा गया कि कितने पेटी सेब बागवानों से लिए गए और कितनी राशि अदा की गई है। इस दौरान बिलों की भी जांच की गई। जो राशि बागवानों को दी गई, उसका पूरा ब्योरा लिया गया।

एसआइटी ने बुधवार को भी आढ़तियों को पूछताछ के लिए बुलाया है। जिन आढ़तियों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए हैं, उनमें चंडीगढ़, दिल्ली और शिमला के आढ़ती शामिल हैं। वर्ष 2018-19 में एपीएमसी के पास किसानों को कमीशन एजेंटों द्वारा राशि न देने के 101 मामले आए थे। इनमें से करीब 90 मामले दर्ज किए गए हैं। इन मामलों की जांच एसआइटी कर रही है। सेब बागवानों के पैसे डकारने के इस मामले में न्यायालय ने 30 कमीशन एजेंटों को दोषी करार दिया था। उन्हें 31 मार्च तक पैसे देने का अल्टीमेटम दिया था। अब उनसे पूछताछ की जा रही है।

सेब खरीदकर बागवानों को पैसे न देने के मामले में आढ़तियों को पूछताछ के लिए तलब किया गया था। पूछताछ के बाद आढ़ती पैसे लौटाने के लिए तैयार हो गए हैं। -वीरेंद्र कालिया, एएसपी (क्राइम)

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप