संवाद सहयोगी, रिकांगपिओ : मंडी संसदीय उपचुनाव के लिए नियुक्त केंद्रीय व्यय पर्यवेक्षक एवं भारतीय राजस्व सेवा के अधिकारी विमल कुमार मीणा ने कहा है कि स्वतंत्र, निष्पक्ष व पारदर्शी चुनाव में राजनीतिक दलों और चुनाव लड़ रहे उम्मीदवारों की ओर से किए जाने वाले खर्च पर नजर रखने में भारत निर्वाचन आयोग द्वारा तैनात अधिकारियों व कर्मचारियों की अहम भूमिका होती है। विमल कुमार मीणा जिला किन्नौर के रिकांगपिओ में व्यय संबंधी कार्य में तैनात अधिकारियों व कर्मचारियों की बैठक में अधिकारियों को दिशानिर्देश दे रहे थे।

उन्होंने निर्देश दिए कि वे व्यय व लेखा से संबंधित सभी घटकों की सघनता से जांच व निगरानी सुनिश्चित बनाएं। ताकि उम्मीदवारों द्वारा किए जा रहे खर्च का बारीकी से आकलन किया जा सके। मीणा ने कहा कि चुनाव के दौरान बैंकों से 10 लाख से अधिक की निकासी व एक ही व्यक्ति द्वारा बार-बार नियमित निकासी पर भी नजर रखें। उन्होंने चुनाव के दौरान किए जाने वाले सुरक्षा प्रबंधों की जानकारी हासिल की और धन-बल रोकने व शराब के वितरण पर अंकुश लगाने के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी हासिल की। उन्होंने वीडियो निगरानी दल को निर्देश दिए कि वे रैलियों के दौरान सही प्रकार से वीडियोग्राफी करें।

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त आबिद हुसैन सादिक ने किन्नौर विधानसभा क्षेत्र में की जा रही चुनावी तैयारियों के बारे में जानकारी दी। बैठक में पुलिस अधीक्षक अशोक रत्न, सहायक निर्वाचन अधिकारी एवं एसडीएम स्वाति डोगरा, व्यय चुनाव पर्यवेक्षक के लाइजनिंग अधिकारी रितेश पटियाल व चुनाव प्रक्रिया में नियुक्त विभिन्न अधिकारी मौजूद रहे।

Edited By: Jagran