राज्य ब्यूरो, शिमला : हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) के गायब लाखों के सामान को लेकर एक और खुलासा हुआ है। आइपीएस अधिकारी ने माना है कि उन्होंने एक स्टडी टेबल और डबल बेड बॉक्स नवंबर 2015 से इस्तेमाल किया है। उन्होंने इस संबंध में निगम के प्रबंध निदेशक को पत्र लिखा है। इसमें दोनों आइटम अपने पास होनी कबूली है। उन्होंने पत्र में आग्रह किया है कि ये अब सेवाएं देने के योग्य नहीं रह गई हैं। इनकी मरम्मत भी नहीं हो सकती है। लिहाजा इसे बट्टाखाते में डाला जाए।

-----------

कहां से प्रकट हुआ था ये सामान

निगम ने नोटिस तो पूर्व निजी सचिव को जारी किया था, लेकिन कुछ सामान एक आइपीएस के आवास से प्रकट हुआ। हिमाचल परिवहन मजदूर संघ ने इसे लेकर कई तरह से सवाल खड़े किए हैं। असल में फर्नीचर समेत करीब 10 लाख का महंगा सामान पूर्व उपाध्यक्ष केवल सिंह पठानिया के आवास, कार्यालय के लिए खरीदा गया था। बाद में कांग्रेस सरकार ने केवल सिंह पठानिया को एचआरटीसी से हटाकर वन निगम का उपाध्यक्ष बनाया था। इस सामान को तत्कालीन वरिष्ठ निजी सचिव ने कब्जे में लिया था। वह सेवानिवृत्त हो गया, लेकिन यह सामान को जमा नहीं करवाया। हाल ही में निगम प्रबंधन ने उसे नोटिस जारी किया। दैनिक जागरण ने यह मामला प्रमुखता से उठाया। गायब सामान की सूची भी प्रकाशित की गई थी। नोटिस के अनुसार 21 आइटम तारादेवी रेस्ट हाउस के रिकॉर्ड से गायब हैं।

-----------

कितनी हैं आइटम

अभी तक पूर्व निजी सचिव ने गायब सामान को जमा नहीं करवाया है। इससे पहले ही इससे जुड़ी परतें खुलने लगी है। नौ आइटम आज तक जमा क्यों नहीं हुई, यह चर्चा का विषय बना हुआ है।

Posted By: Jagran