राज्य ब्यूरो, शिमला : निजी बस ऑपरेटरों की प्रस्तावित अनिश्चितकालीन हड़ताल से निपटने के लिए सरकार ने पूरी तैयारी कर ली है। हड़ताल के दौरान यात्रियों को कोई परेशानी न हो इसके मद्देनजर हिमाचल पथ परिवहन निगम (एचआरटीसी) के कर्मचारियों की छुट्टियां रद कर दी गई हैं। जो कर्मचारी छुट्टी पर हैं उन्हें भी ड्यूटी पर बुला लिया गया है। 10 सितंबर की हड़ताल के दौरान एचआरटीसी अपनी सारी बसें चलाएगा। प्रदेश के करीब 4000 रूट पर 3200 निजी बसें चलती हैं। एचआरटीसी ने क्षेत्रीय प्रबंधकों (आरएम) को आदेश दिए हैं कि लोगों की मांग और आवश्यकता के आधार पर रूट पर निगम की बसें चलाएं। एचआरटीसी के पास 3200 बसों का बेड़ा है, जिसमें केवल 200 बसें हैं जो सड़क पर नहीं चल रही हैं। हड़ताल के दौरान इनको भी सड़क पर चलाया जाएगा। बसें 60 फीसद ऑक्यूपेंसी पर चलती हैं, यानी यात्रियों की कुल क्षमता का साठ फीसद ही सफर कर रहे हैं। इस दौरान इसे 100 फीसद किया जाएगा। हर रूट पर जहां निजी बसें चल रही हैं व निगम की बसें भी चल रही हैं। ऐसे में रूट को क्लब करने के साथ लंबे रूट रद भी किए जाने की योजना है, ताकि छोटे रूट पर लोगों की सुविधा के लिए बसों को चलाया जा सके। कुछ स्थानों पर बसों के अतिरिक्त फेरे भी लगाए जाएंगे।

-----

सभी रूट पर बसों की संख्या को बढ़ाया जाएगा। जेएनयूआरएम की गाड़िया भी शामिल हैं। कर्मियों की छुट्टियों को रद कर दिया गया है। अवकाश पर गए कर्मियों को भी ड्यूटी पर बुलाया गया है।

-एचके गुप्ता, मुख्य महाप्रबंधक पथ परिवहन निगम।

Posted By: Jagran