शिमला, जेएनएन। राजधानी शिमला के ढली में दुष्कर्म मामले की जांच तेज हो गई है। सूत्रों के मुताबिक

फॉरेंसिक लैब जुन्गा की टीम ने पुलिस से इस मामले में संदिग्धों के ब्लड सैंपल मांगे हैं। ब्लड सैंपल न मिलने तक फॉरेंसिक टीम मामले की रिपोर्ट तैयार नहीं कर पाएगी।

सूत्रों के मुताबिक पुलिस ने कुछ संदिग्धों के ब्लड सैंपल लिएहैं। लेकिन इन सैंपल को अभी फॉरेंसिक लैब में नहीं भेजा गया है। इस मामले में पुलिस  को कोई ठोस सुबूत नहीं मिला है। अब अंतिम उम्मीद फॉरेंसिक लैब की रिपोर्ट से है। जब फॉरेंसिक रिपोर्ट आएगी, उसके बाद पीड़िता के मेडिकल पर दोबारा राय ली जाएगी। पीड़िता ने गत 28 मई को दुष्कर्म होने की एफआइआर दर्ज करवाई थी। लेकिन वह कोर्ट में बयान से पलट गई थी। उसने मामले की जांच बंद करने की गुहार लगाई है।

नहीं बनाया स्कैच

पुलिस को इस मामले में आरोपित का स्कैच बनवाने में मुश्किल हो रही है। आरोपित के संबंध में कोई जानकारी पीड़िता नहीं दे रही है। उसने वारदात के दिन घटनास्थल पर अंधेरा होने की बात कही थी। यही वजह है कि पुलिस अभी तक आरोपित का स्कैच नहीं बनवा पाई है। पीड़िता से पहले दिन की पूछताछ के आधार पर एक स्कैच बनाया गया था। लेकिन पीड़िता ने बाद में कहा आरोपित का हुलिया स्कैच में दिखाए व्यक्ति से नहीं मिल रहा है। इसके बाद पीड़िता ने जांच में सहयोग नहीं किया है। 

संदिग्धों से हो रही पूछताछ 

पुलिस मामले की जांच कर रही है। अभी फॉरेंसिक रिपोर्ट नहीं आई है। एसआइटी संदिग्धों से पूछताछ कर रही है।

-ओमापति जम्वाल, एसपी

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Babita

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस