शिमला, जेएनएन। National Girls Day 2020. राष्ट्रीय बालिका दिवस पर शुक्रवार को शिमला के रिज मैदान में जिलास्तरीय कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में शिमला जिला की आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, महिला मंडल सदस्यों, एनएसएस स्वयंसेवियों और आइटीआइ शिमला की छात्राओं ने भी हिस्सा लिया।

रिज मैदान में 1500 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और महिला मंडल सदस्यों ने मानव श्रृंखला बनाकर बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया। इसके अलावा एनसीसी कैडेट्स, आइटीआइ की छात्राओं और जिला शिमला की 11 बालिका विकास परियोजना कार्यक्रम की 500 कार्यकर्ताओं ने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का लोगो बनाकर कार्यक्रम में सहयोग कर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया। शिमला के ऐतहासिक गेयटी थियेटर में भी इस अवसर पर कई कार्यक्रम आयोजित किए गए।

इस मौके पर शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। इस दौरान सुरेश भारद्वाज ने लोगों से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के नारे को सार्थक करने की अपील की। उन्होंने कहा कि शास्त्रों में उल्लेख है कि जहां नारी का सम्मान होता है, वहीं देवता वास करते हैं। उनके मुताबिक, हमारी परंपरा में नारी का स्थान बहुत ऊंचा है। इसलिए गिरते लिंगानुपात को रोकना होगा। सबको मिलकर बेटियों का संरक्षण करना होगा। इस अवसर पर कई सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किए गए। इस दौरान शिमला शहरी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने लघु नाटिका के माध्यम से बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश दिया।

इस अवसर पर सुरेश भारद्वाज ने महिला अचीवर्स कैलेंडर का भी विमोचन किया। उन्होंने महिला अचीवर्स को पुरस्कार देकर सम्मानित भी किया। कबड्डी खिलाड़ी साक्षी डोगरा को भी पुरस्कृत किया गया। शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने जिला की बेहतरलिंगानुपाल वाली 10 पंचायतों को भी सम्मानित किया। इसके अलावा दसवीं और जमा दो कक्षाओं में शिमला जिला में पहले 10 स्थानों पर रहने वाली छात्राओं को भी शिक्षा मंत्री ने पुरस्कार देकर सम्मानित किया। जिला के रामपुर उपमंडल की स्वाती बंसल को महिला अचीवर्स अवार्ड से सम्मानित किया गया।

हिमाचल की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Kumar Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस