राज्य ब्यूरो, शिमला। हिमाचल में शनिवार को कई क्षेत्रों में बारिश हुई। कई जगह लोगों के घरों में बारिश का पानी व मलबा घुस गया। शुक्रवार रात व शनिवार को हुई बारिश से प्रदेश में 12 मकान क्षतिग्रस्त हो गए। बारिश के कारण हुए भूस्खलन से प्रदेश में 105 सड़कों पर यातायात बाधित रहा। लोक निर्माण विभाग के अनुसार शनिवार को हुई बारिश से प्रदेश में सड़कें व मकान क्षतिग्रस्त होने से एक ही दिन में करीब पांच करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।

शिमला जिला के ठियोग के वार्ड सात के रहीघाट में शुक्रवार देर रात डंगा गिरने से सड़क धंस गई। इससे राष्ट्रीय राजमार्ग पांच शिमला-किन्नौर का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया। चार वाहन मलबे में दब गए। देर शाम मार्ग पर यातायात बहाल हो गया। वहीं ऊना में मूसलधार बारिश से शहर की सड़कें जलमग्न हो गई। एमसी पार्क के समीप नाले का पानी सड़क पर बहने लगा। मैहतपुर औद्योगिक क्षेत्र की सड़क तथा साथ लगती दुकानों में पानी घुस गया।

छह जिलों में भारी बारिश का अलर्ट
मौसम विभाग ने 11 अगस्त को ऊना, हमीरपुर, कांगड़ा, शिमला, सोलन व सिरमौर और 12 अगस्त को ऊना, बिलासपुर, हमीरपुर, कांगड़ा व सिरमौर में भारी बारिश के लिए यलो अलर्ट जारी किया है। लोगों को सचेत रहने के लिए कहा गया है। वहीं, 14 अगस्त को ऊना, हमीरपुर, कांगड़ा, शिमला, सोलन, सिरमौर, बिलासपुर व मंडी जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। ऊना में एक दिन में सात डिग्री बढ़ा तापमान ऊना जिला में शनिवार को अधिकतम तापमान एक ही दिन में सात डिग्री सेल्सियस व भुंतर में छह डिग्री सेल्सियस बढ़ा। प्रदेश में सबसे अधिक तापामन ऊना जिला में 34.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। प्रदेश में सबसे अधिक बारिश धर्मशाला में हुई।

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप