राज्य ब्यूरो, शिमला : आयुर्वेद विभाग में हुए घोटाले में पूर्व निदेशक और अतिरिक्त मुख्य सचिव (आयुर्वेद) पर आरोप लगाने वाले वरिष्ठ सहायक राजेश कुमार कौशल को चार्जशीट नहीं दी गई है। इस कारण आयुर्वेद विभाग के निदेशक डीके रत्न से जवाब तलब किया गया है। राजेश कुमार ने चार अक्टूबर को मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर अतिरिक्त मुख्य सचिव (आयुर्वेद) व आयुर्वेद विभाग के पूर्व निदेशक की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए थे।

जैम पोर्टल का कार्य राजेश कुमार संभालते थे। उन्हें अतिरिक्त मुख्य सचिव (आयुर्वेद) ने 28 सितंबर को चार्जशीट जारी कर दी गई थी। तब से लेकर अब तक भी चार्जशीट न दिए जाने पर उन्होंने एतराज जताया है। राजेश कौशल द्वारा मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को पत्र लिखने के बाद मुख्य सचिव श्रीकांत बाल्दी ने अतिरिक्त मुख्य सचिव संजय गुप्ता से सारे मामले की जानकारी मांगी। इस जानकारी के आधार पर मुख्य सचिव की मंजूरी के बाद निदेशक आयुर्वेद की एक्सप्लेनेशन कॉल की गई है।

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने मुख्य सचिव के समक्ष आयुर्वेद विभाग के वरिष्ठ सहायक राजेश कौशल के हस्ताक्षर से एक जुलाई को संयुक्त निदेशक आयुर्वेद को दिए गए स्प्ष्टीकरण को भी रखा है। इसमें बताया गया है कि 389.82 लाख रुपये की दवाइयों की खरीद को लेकर सरकार की अनुमति से इसमें से 160 लाख रुपये की मशीनें व उपकरण प्रदेश के आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्रों के लिए खरीदे गए। इन उपकरणों की खरीद सरकार की अनुमति के बाद की गई। इसके लिए तकनीकी कमेटी का गठन भी किया गया। यह खरीद जैम पोर्टल के माध्यम से की गई। इस लिखित जवाब में राजेश कौशल ने बताया कि उनके पास केवल फाइलों पर कार्य करने और जैम पोर्टल को संचालित करने का कार्य था। कमेटी द्वारा जो उपकरण खरीदने को बताए गए, वे खरीदे गए। दैनिक जागरण ने उठाया था मामला

आयुर्वेद विभाग में उपकरणों की खरीद में घोटाला हुआ था। जैम पोर्टल के माध्यम से महंगे दाम पर उपकरण खरीदे गए थे। दैनिक जागरण ने इस मामले का खुलासा किया था।

वरिष्ठ सहायक राजेश कुमार कौशल को चार्जशीट जारी की गई थी। निदेशक आयुर्वेद ने अभी तक इस चार्जशीट को नहीं दिया है। मुख्य सचिव श्रीकांत बाल्दी के समक्ष मामले को रखा गया। उनकी मंजूरी के बाद निदेशक आयुर्वेद से जवाब मांगा गया है कि आखिर इतने दिन तक चार्जशीट क्यों नहीं दी गई।

-संजय गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य सचिव, आयुर्वेद विभाग

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप