राज्य ब्यूरो, शिमला : शहरी क्षेत्रों में साफ-सफाई बनाए रखने में महत्वपूर्ण सेवाएं प्रदान करने वाले सभी सफाई कर्मचारियों को अप्रैल, मई और जून के लिए प्रतिमाह दो हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। इनमें नगर निगम, नगर पालिकाओं, नगर परिषद और नगर पंचायत में कार्यरत सफाई कर्मी शामिल हैं। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने यह घोषणा वीरवार को शिमला से शहरी स्थानीय निकायों के निर्वाचित प्रतिनिधियों को वर्चुअल माध्यम से संबोधित करते हुए की। यह आग्रह शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने मुख्यमंत्री से किया था।

उन्होंने कोरोना के कारण होम आइसोलेट व्यक्तियों के परिवारों के साथ निरंतर संपर्क बनाए रखने का आग्रह किया, ताकि उन्हें उचित चिकित्सा परामर्श व उपचार प्राप्त हो। वे यह भी सुनिश्चित करें कि लोग स्वयं अपनी जांच करवाने के लिए आगे आएं। ऐसा पाया गया है कि अस्पतालों में जाने में देरी के कारण स्थिति बिगड़ती है और मृत्यु दर में वृद्धि हो रही है। लोगों को टीकाकरण के लिए आगे आने के लिए भी प्रेरित किया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि निर्वाचित प्रतिनिधि यह भी सुनिश्चित करें कि कोरोना मरीज की मौत होने पर प्रोटोकॉल के अनुसार अंतिम संस्कार किया जाए। प्रदेश सरकार निकटतम स्वास्थ्य संस्थानों को पीपीई किट प्रदान करने पर भी विचार कर रही है, ताकि वे लोगों को पीपीई किट प्रदान कर सकें। यदि किसी व्यक्ति में कोई लक्षण हैं तो उन्हें आरटी-पीसीआर जांच करवाने और कम से कम 10 दिन के लिए होम क्वारंटाइन में रहने के लिए प्रेरित किया जाना चाहिए। जरूरतमंद लोगों को फेस मास्क, सैनिटाइजर और फूड किट वितरित करने के लिए आगे आना चाहिए। इस दौरान शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने मुख्यमंत्री का शहरी स्थानीय निकायों के निर्वाचित प्रतिनिधियों के साथ बातचीत करने के लिए धन्यवाद किया। उन्होंने मुख्यमंत्री से राज्य वन निगम को मृतक व्यक्ति के अंतिम संस्कार के लिए निश्शुल्क लकड़ी प्रदान करने का आग्रह किया।