जागरण संवाददाता, शिमला : जिला शिमला में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसे में कोरोना संक्रमण से बचाव की जरूरत भी बढ़ गई है। रिपन अस्पताल के एमएस डॉ. लोकेंद्र शर्मा का कहना है कि कोरोना को हराने के लिए सावधानी, संयम और सहयोग का पालन अनिवार्य रूप से करना चाहिए। अति आवश्यक हो तभी घर से बाहर निकलें। घर से बाहर निकलते वक्त सावधानी बरतने की जरूरत है।

बाजार, सरकारी कार्यालय और अस्पताल में इन दिनों कोरोना के नए मामले बढ़ रहे हैं। शारीरिक दूरी के नियम का उचित पालन न होने के कारण शहर में संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है। कोरोना संकट शुरू होने के बाद कुछ समय तक तो लोगों ने सरकार की ओर से जारी किए गए दिशानिर्देश का पालन किया था लेकिन अनलॉक शुरू होने के बाद लोग अधिक लापरवाह होते नजर आ रहे हैं। अच्छी डाइट लें और जंक फूड से बनाएं दूरी

एमएस डॉ. लोकेंद्र शर्मा का कहना है कि लोग सरकार की ओर से जारी दिशानिर्देश का पालन करें, ताकि संक्रमण की चेन को तोड़ा जा सके। इसके साथ ही लोगों को अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्यूनिटी) बनाए रखनी है। अच्छी डाइट लें। जंक फूड से दूरी बनाएं। गर्म पानी का सेवन करें। ताजे फल व सब्जियों का जरूर सेवन करें। घर से बाहर निकलते समय बरतें यह एहतियात

घर से बाहर निकलने पर मास्क से मुंह और नाक को ढककर रखें। नियमित रूप से हाथों को धोएं या सैनिटिइज करें। साथ ही शारीरिक दूरी के नियम का पालन करें। बुजुर्ग, बच्चे या किसी भी तरह की गंभीर बीमारी से पीड़ित व्यक्ति बिना आवश्यक कारण से घर के बाहर न निकलें। जो यात्राएं जरूरी नहीं हैं उन्हें कुछ समय के लिए टाल दें। कोरोना से घबराएं नहीं, किसी भी प्रकार के लक्षण आने पर तुरंत स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन को सूचित करें।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस