राज्य ब्यूरो, शिमला : हिमाचल राजकीय अध्यापक संघ के अध्यक्ष वीरेंद्र चौहान ने कहा कि प्रदेश के सरकारी स्कूलों में प्री प्राइमरी कक्षाएं शुरू की जानी चाहिए। ऐसा होने पर अभिभावक अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में दाखिल करवाने के लिए प्रेरित होंगे और बेहतर शिक्षा का फायदा उठा सकेंगे।

उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में पढ़ाई के साथ खेलकूद, एनसीसी, एनएसएस जैसी गतिविधिया संचालित की जाती हैं जो बच्चों के सर्वागीण विकास के लिए जरूरी हैं। उन्होंने सरकार से माग की कि सरकारी स्कूलों को और सुदृढ़ बनाने के लिए अध्यापक संघ के सुझावों को लागू किया जाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा घोषित जमा दो कक्षा के परीक्षा परिणाम में सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों का सराहनीय प्रदर्शन रहा है। इस परिणाम ने प्रदेश में सरकारी स्कूलों की सकारात्मक तस्वीर पेश की है। राजकीय अध्यापक संघ के सुझाव

-सरकारी प्राथमिक स्कूलों में प्री प्राइमरी कक्षाएं शुरू हों।

-प्राथमिक शिक्षा में अंग्रेजी माध्यम शुरू किया जाए।

-प्रदेश में प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय की अधिसूचना मूल रूप से लागू हो।

-शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यो से निवृत्त किया जाए।

-शिक्षा की गुणवत्ता को बढ़ाया जाए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस