शिमला, जेएनएन। हिमाचल प्रदेश विधानसभा के मानसून सत्र में मंगलवार को सुबह ही हंगामा हो गया। सदन में नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने सवाल उठाया कि पर्यटन विभाग की 16 प्रॉपर्टी किसने वेबसाइट पर अपलोड की हैं? मुकेश ने कहा कि क्या ऐसे करने वाले के खिलाफ कोई कार्रवाई की गई है? उसके बाद विधानसभा में सत्ता पक्ष और विपक्ष के सदस्यों ने नारेबाजी शुरू कर दी। कुछ देर हंगामे के बाद कांग्रेस ने वकआउट कर दिया। हालांकि करीब आधे घंटे बाद कांग्रेस के विधायक सदन में लौट आए।

सदन में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा पर्यटन विभाग की 16 प्रॉपर्टी लीज पर देने को लेकर साइट पर अपलोड होना दुर्भाग्यपूर्ण है। मामला सरकार के ध्यान में आते ही संज्ञान लिया गया है। पर्यटन विभाग की किसी भी प्रॉपर्टी को बेचने का सवाल ही नहीं पैदा होता। गलती से यह सब से हो गया था। यह गलती क्यों हुई है इसकी भी जांच होगी। भविष्य में कोई गलती न हो, इस पर भी विशेष ध्यान रखा जाए। मुख्यमंत्री ने कहा इस मामले की जांच मुख्य सचिव की अध्यक्षता में होगी और तीन दिन के भीतर डिटेल रिपोर्ट मांगी है। मुख्यमंत्री ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा आज वह लोग बोल रहे हैं, जिन्होंने 1995 में व्हाइट फ्लाॅवर होटल बेच दिया, उसका आज दिन तक एक भी पैसा सरकार को नहीं मिला। सीएम ने कहा हर जगह राजनीति से काम लिया जाए, यह उचित नहीं।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस