जागरण संवाददाता, शिमला : पेट्रोल-डीजल के दाम में लगातार हो रही बढ़ोतरी के विरोध में कांग्रेस के भारत बंद का शिमला में खासा असर दिखा। कांग्रेस कार्यकर्ताओं को माकपा का भी साथ मिला। काग्रेस कार्यालय से अपना प्रदर्शन शुरू किया। लोअर बाजार होते हुए मालरोड पहुंचे और वहां से कार्टरोड के लिए रवाना हो गए। यहां पर कार्यकर्ता सड़क पर बैठ गए और चक्का जाम कर दिया। वहीं, दूसरी ओर माकपा ने विक्ट्री टनल के पास चक्का जाम किया।

राजधानी शिमला में कांग्रेस, माकपा व निजी बस ऑपरेटरों की हड़ताल के कारण शहर की व्यवस्था पूरी तरह बिगड़ गई। सोमवार दोपहर करीब 12 बजे राजधानी पूरी तरह जाम हो गई। करीब चार घटे तक जाम लगा रहा। जाम इस कदर था कि पूरी यातायात व्यवस्था ठप हो गई। इक्का-दुक्का वाहनों के अलावा लक्कड़ बाजार से लेकर बस स्टैंड और बस स्टैंड से क्रॉसिंग तक कोई भी वाहन चलता नजर नहीं आया। हालांकि सुबह के समय भी जाम की स्थिति रही ,लेकिन दोपहर को जाम ने विकराल रूप धारण कर लिया। जाम खुलता न देख लोगों को पैदल ही गंतव्य की ओर जाना पड़ा।

टुटू से सुबह 11 बजे जिन यात्रियों ने शिमला का रुख किया वे करीब एक बजे शिमला पहुंचे। वाया चक्कर आने वाली बसें ओल्ड बैरियर में ही फंस गई। ओल्ड बैरियर से लोगों को शिफ्टों में शिमला आना पड़ा। कमोवेश ऐसी स्थित लक्कड़ बाजार-संजौली और लक्कड़-बाजार विक्ट्री टनल मार्ग की भी रही। 12 बजे से शाम तीन बजे तक वाहन सड़कों पर सरकते रहे। कई लंबे रूट की बसें लेट हो गई। लोकल यात्रियों ने तो पैदल जाने में ही भलाई समझी, लेकिन लंबी दूरी वाले यात्रियों को सिवाय जाम खुलने के इंतजार के कोई विकल्प नहीं रहा।

--------

शहर के बाजार भी रहे बंद

राजधानी शिमला में वैसे तो अधिकतर दुकानें खुली रही, लेकिन जैसे ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं की रैली बाजार से गुजरी वहां पर कार्यकर्ताओं ने जबरन व्यापारियों से दुकानें बंद करवा दी। कार्यकर्ताओं ने खुद ही दुकानों के गेट बंद कर दिए। इतना ही नहीं पुलिस कर्मचारी भी अनहोनी की आशंका के कारण मालरोड पर व्यापारियों को दुकानें बंद करने का निर्देश देते रहे। जैसे ही रैली मालरोड से आगे निकली सभी दुकानें खुल गई।

--------

धारा 144 का किया उल्लंघन

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मालरोड पर लगी धारा 144 का भी उल्लंघन किया। माल रोड से नारे लगाते और बोर्ड होर्डिग को लेकर प्रदर्शनकारी निकले। हालांकि पुलिस बल भी तैनात था लेकिन कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पुलिस बल ने नहीं रोका।

---------

एंबुलेंस भी जाम मं फंसी

राजधानी शिमला के लिफ्ट पास कांग्रेस की रैली के कारण एंबुलेंस भी फंस गई। पहले एंबुलेंस चक्का जाम के स्थान पर करीब पांच मिनट खड़ी रही। इसके बाद कार्यकर्ताओं ने एंबुलेंस को रास्ता दिया तो आगे जाम में फंस गई।

-----------

लोगों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं में धक्कामुक्की

शिमला के लिफ्ट के पास कांग्रेस कार्यकर्ताओं के चक्का जाम के दौरान आम जनता बसों से उतर गई और कांग्रेस कार्यकर्ताओं से सड़क बहाल करने की अपील की, लेकिन कार्यकर्ता नहीं माने। इस दौरान कार्यकर्ताओं और लोगों में बहस और धक्कामुक्की हो गई। पुलिस मौके पर तैनात थी। पुलिस के साथ भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने धक्कामुक्की की। प्रदर्शनकारियों ने परिवहन निगम की बस को तोड़ने का भी प्रयास किया।

Posted By: Jagran