जागरण संवाददाता, शिमला : प्रदेश कांग्रेस प्रभारी रजनी पाटिल ने कहा है कि प्रदेश कांग्रेस की कार्यकारिणी जल्द सामने आएगी। पार्टी के हर नेता से चर्चा की जा रही है। पार्टी में किसी तरह का कोई मनमुटाव न रहे, इसलिए सभी को साथ लेकर कार्यकारिणी का गठन होगा। शुक्रवार को शिमला में पत्रकारों से बातचीत में पाटिल ने बताया कि पार्टी 2022 ही नहीं बल्कि इस साल होने वाले स्थानीय निकाय और पंचायत चुनाव को देखते हुए कार्यकारिणी बना रही है। हिमाचल में पार्टी मजबूत है, मजबूत कार्यकारिणी ही बनेगी। उनके साथ नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री, प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप राठौर और सह प्रभारी भी मौजूद थे। देर शाम नेताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के घर होलीलॉज में जाकर उनसे मुलाकात की। भाजपा बताए, दलितों के पक्ष या विरोधी में

रजनी पाटिल और महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुष्मिता देव ने आरोप लगाया कि सुप्रीम कोर्ट में एक मामले की सुनवाई में उत्तराखंड सरकार के अधिवक्ता ने कहा कि आरक्षण कोई मौलिक अधिकार नहीं हैं। इसके आधार पर ही न्यायालय का फैसला एसटी, एससी के खिलाफ आया है। उन्होंने भाजपा से पूछा कि सुप्रीम कोर्ट में जो बात उनकी उत्तराखंड सरकार ने कही है, इसे जनता के बीच कहना चाहिए। इससे आम जनता को समझ आ जाएगा कि भाजपा आरक्षण विरोधी है। भाजपा चुनाव दलितों की हितैषी होने की बात कहकर लड़ती है। वहीं सत्ता में आने के बाद न्यायालय में इसे मौलिक अधिकार नहीं कहती है।

महंगाई, सीएए और आरक्षण की जंग लड़़ेगी कांग्रेस

कांग्रेस नेताओं ने कहा कि देश में महंगाई लगातार बढ़ रही है। दिल्ली चुनाव की हार के बाद भाजपा एक ही दिन में घरेलू गैस सिलेंडर के दाम 150 रुपये बढ़ा दिए। वह सीएए लागू करती है। आरक्षण को संविधान में मौलिक अधिकार बताया है, लेकिन भाजपा सरकार इसे मौलिक अधिकारी नहीं मानती है। इससे साफ है कि भाजपा संविधान को या तो मानती नहीं या फिर इसे बदलने की पूरी तैयारी कर रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस