राज्य ब्यूरो, शिमला : हिमाचल कांग्रेस ने केंद्रीय बजट के साथ पेट्रोल और डीजल के मूल्य में भारी वृद्धि की आलोचना कर इसे तुरंत वापस लेने की मांग की है। प्रदेश कांग्रेस महासचिव रजनीश किमटा ने शनिवार को पत्रकारों से दौरान कहा कि पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने से देश में महंगाई और बढ़ेगी, जिसका असर आम लोगों पर पड़ेगा। केंद्र की भाजपा सरकार ने अपनी प्रचंड जीत का पहला तोहफा पहले बजट में देशवासियों को दे दिया है। ऐसे अनेक तोहफे आगे भी मिलने से इन्कार नहीं किया जा सकता है। केंद्रीय बजट में बेरोजगारी दूर करने के न तो कोई उपाय हैं और न ही योजना। बजट में सपने तो बहुत दिखाने का प्रयास किया गया है पर यह कैसे पूरे होंगे, इस बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं है। देश में औद्योगिक विकास के लिए विदेश निवेश पर निर्भर होने से देश के अपने उद्योगों पर विपरीत असर का डर उद्योग जगत को सता रहा है।

उन्होंने कहा कि बजट देखकर ऐसा लगता है कि यह विदेशी कंपनियों और बड़े उद्योगपतियों के दबाव में बनाया है। इसमें छोटे व्यापारियों के हितों का कोई ध्यान नहीं रखा गया है। बजट से हिमाचल प्रदेश को भारी निराशा हुई है। प्रदेश में औद्योगिक विकास के लिए इस बार विशेष आर्थिक पैकेज की उम्मीद थी, लेकिन केंद्र ने उम्मीदों पर पानी फेर दिया। भाजपा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा और केंद्रीय राज्य वित्त मंत्री अनुराग ठाकुर भी प्रदेश के हितों की पैरवी करने में नाकाम रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस