शिमला, जेएनएन। हिमाचल प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है, जहां शत-प्रतिशत घरों में एलपीजी गैस कनेक्शन की सुविधा उपलब्ध है। यह बात मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने सचिवालय में आयोजित वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से हिमाचल गृहिणी सुविधा योजना के लाभार्थियों से बातचीत करते हुए कही। पारंपरिक चूल्हे के लिए लकडिय़ां एकत्रित करना और खाना बनाना न केवल कष्टदायी था, बल्कि इससे महिलाओं के स्वास्थ्य पर भी विपरीत प्रभाव पड़ रहा था। ईंधन की लकड़ी के लिए लाखों पेड़ों के कटान के कारण पर्यावरण भी प्रभावित हो रहा था।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना से प्रदेश के 1.36 लाख परिवार लाभान्वित हुए हैं। गृहिणी सुविधा योजना के तहत प्रदेश में 2,76,243 परिवारों को नि:शुल्क गैस कनेक्शन प्रदान किए गए हैं। मुख्यमंत्री ने महिलाओं से आह्वान किया कि वे अन्य राज्यों से आए होम-क्वारंटाइन लोगों पर भी नजर रखें, ताकि वह नियमों का उल्लघंन न करें। इससे सामुदायिक स्तर पर संक्रमण के फैलाव को रोकने में मदद मिलेगी। मुख्य सचिव अनिल खाची, अतिरिक्त मुख्य सचिव मनोज कुमार,निदेशक खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति आबिद हुसैन सादिक सहित  अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर मौजूद रहे।

लाभार्थी बोले, बदल गई जीवन शैली

बिलासपुर की ब्यासा देवी ने वीडियो कांफ्रेंस से मुख्यमंत्री को बताया इसने उनके जीवन को बदल दिया है। धुएं से निजात दिलाई, पहले जंगलों से लकड़ी लाने में कई-कई घंटे लग जाते थे और अब वह समय सब्जी और कृषि उत्पादन मे लगा रही हैं। बालीचैकी की चिंता देवी, भरमौर की मीनू ठाकुर, कांगड़ा की कामिनी देवी, कुल्लू की मीना देवी, सिरमौर की गुलनास, लाहुल-स्पीति की दीपिका ने अपने अनुभव साझा किए।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस