जागरण संवाददाता, शिमला : बालूगंज चौक में दुकानों को शिफ्ट कर नई जगह बसाने के प्लान में अब बदलाव हुआ है। इसके लिए नए सिरे से डिजाइन तैयार किया गया है। पहले तैयार किए डिजाइन को कार्यान्वित करते वक्त उसमें कुछ तकनीकी दिक्कतें आ रही थीं। एक अतिरिक्त मंजिल का स्पेस बच रहा था, जिसके चलते अब नए सिरे से डिजाइन तैयार किया गया है। नए सिरे से डिजाइन तैयार करने और मंजूरी लेने में काफी वक्त लगा, जिससे यह काम लटका हुआ है।

शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज ने हाल ही में नगर निगम, लोक निर्माण विभाग और स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अधिकारियों के साथ बैठक कर काम को जल्द पूरा करने के निर्देश दिए थे। बालूगंज के कारोबारी चाहते हैं कि यह काम जल्द पूरा हो ताकि यहां पर रोजाना लगने वाले ट्रैफिक जाम से लोगों को निजात मिल सके। चौक को चौड़ा करने का काम भी दोनों चरणों में शुरू हो गया है। कामना देवी सड़क केंद्रीय लोक निर्माण विभाग के अधीन आती है। इसका काम इन्हीं से करवाया जा रहा है। जबकि मुख्य सड़क को चौड़ा करने के लिए जो डंगे लगाने का काम अंतिम चरण में है। यह काम पूरा होने के बाद दुकानों को बनाने का काम शुरू हो जाएगा। माडल स्कूल बनाने का काम तीसरे चरण में होगा

बालूगंज में सरकारी स्कूल को माडल बनाने का काम तीसरे चरण में बनाया जाएगा। जिस स्थान पर स्कूल का भवन है उसे गिराकर नए स्थान पर स्कूल का भवन बनाया जाएगा। इसके लिए अभी तक जमीन चिह्नित नहीं की गई है। नगर निगम को पत्र लिखकर जमीन चिह्नित करने को कहा गया है। निगम जैसे ही जमीन फाइनल कर देगा स्कूल का काम शुरू कर दिया जाएगा। यह है प्लान

बालूगंज से शिमला आने के लिए यह सबसे तंग रास्ता माना जाता है। इसे चौड़ा करने का जो प्लान तैयार किया है उसके तहत कामना देवी मंदिर को जाने वाले रास्ते को शिफ्ट करने का फैसला लिया है। इस रास्ते को मुख्य मार्ग के बजाय चक्कर से बनाने का फैसला लिया है। इससे बालूगंज को आने वाला रास्ता खुला हो जाएगा। बालूगंज चौक में निगम की दुकानों को तोड़कर दोबारा से बनाया जाएगा। इससे बालूगंज में संकरे चौक और बाजार को खुला बनाया जा सकेगा।

जल्द पूरा करवाया जाए काम

जगत स्वीट्स के संचालक वीरेंद्र शर्मा ने कहा कि अच्छा है कि सरकार सड़क चौड़ी कर रही है इससे रोज के जाम से छुटकारा मिलेगा और हमें भी अच्छी जगह मिलेगी। इससे हमारे काम में भी बढ़ोतरी होगी। बालूगंज चौक को चौड़ा करने का काम चला हुआ है। यहां की दुकानों को नए स्थान पर शिफ्ट किया जाएगा। इसका डिजाइन जो पहले तैयार किया था उसमें बदलाव किया गया है। एक अतिरिक्त मंजिल आने के चलते पूरा डिजाइन नए सिरे से तैयार करना पड़ा, जिसके चलते कुछ देरी काम में हुई है।

नीतिन गर्ग, जीएम स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट।

Edited By: Jagran