शिमला : शिमला की रहने वाली 18 वर्षीय लेखिका रवितनया शर्मा की पुस्तक 'द ब्यूटी ऑफ लाइफ' का विमोचन दिल्ली के प्रगति मैदान में विश्व पुस्तक मेला 2019 के लेखक मंच पर भाषा अकादमी हिमाचल प्रदेश के सौजन्य से हुआ। रवितनया शर्मा की यह दूसरी पुस्तक है। उनकी पहली पुस्तक का विमोचन भी विश्व पुस्तक मेला 2018 में ही हुआ था। रवितनया ने अपनी दोनों पुस्तकें अंग्रेजी में लिखी हैं। पहली पुस्तक 'लाइफ इज ब्यूटीफुल' के लिए वह मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के हाथों से 'वूमेन पावर अवार्ड' व पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल के हाथों सर्व द ह्यूमेनिटी संस्था से 'युवा प्रतिभा सम्मान' और राज्यपाल आचार्य देवव्रत के हाथों 'स्वामी विवेकानंद प्रतिभा सम्मान 2018' से सम्मानित हो चुकी हैं।

रवितनया ने स्कूली शिक्षा कान्वेंट ऑफ जीजस एंड मैरी चैलसी व लॉरेटो कॉन्वेंट ताराहाल शिमला से की है। वर्तमान में वह सेंट बीड्स कॉलेज शिमला की प्रथम वर्ष की छात्रा हैं। रवितनया ने प्रेरक पुस्तक लिखी है जो हर उम्र के पाठक वर्ग के लिए उपयोगी है। उन्हें फोटोग्राफी व पेंटिंग का भी शौक है। जब वह नौ वर्ष की थी, तो उसकी बनाई पें¨टग की प्रदर्शनी कुल्लू-मनाली स्थित रौरिक आर्ट गैलरी में लगी थी। वह राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री से सम्मानित प्रसिद्ध लेखिका कंचन शर्मा व लेखक व समाजसेवी प्रोफेसर डॉ. प्रमोद शर्मा की पुत्री हैं।

Posted By: Jagran