संवाद सूत्र, कुमारसैन : पंचायत समिति नारकंडा की त्रैमासिक बैठक अध्यक्ष मीरा शर्मा की अध्यक्षता में हुई। बैठक में जरोल के बीडीसी सदस्य मोहन श्याम ने पेयजल योजना आल्डी खड्ड बाजा कवानू के बारे में विभाग के अधिकारियों से चर्चा की। नारकंडा के बीडीसी सदस्य हरिदत्त ने बिजली के नए पोल पर लाइन बदलने बारे, बीडीसी बड़ागाव के सदस्य अनिल कुमार ने भनेटी से लुहरला पाइप लाइन से कनेक्शन न देने के बारे में सहायक अभियंता कुमारसैन डीएस कौशल से इस कार्य को पूरा करने का आग्रह किया गया। बीडीसी बड़ागाव अनिल कुमार ने बैठक में सुझाव दिया कि जिस विभाग से संबंधित प्रश्न और मुद्दे हों बैठक में उन्हीं विभागों के अधिकारियों को बुलाया जाए। बैठक में खाद्य एवं आपूर्ति विभाग का ऑफिस नारकंडा से कुमारसैन ले जाने पर भी आपत्ति जताई, जबकि थोक डिपो नारकंडा में है। जरोल के बीडीसी सदस्य मोहन श्याम ने मुद्दा उठाया कि वन विभाग वन मंडल द्वारा पकड़ी गई लकड़ी की नीलामी बिना किसी पूर्व सूचना की थी।

बैठक में लोक निर्माण विभाग से संबंधित कई प्रश्न उठे, लेकिन उन चर्चा नहीं की जा सकी क्योंकि लोक निर्माण विभाग से कोई भी अधिकारी बैठक में मौजूद नहीं था। इस पर सदस्यों ने नाराजगी जाहिर की।

पंचायत समिति नारकंडा की अध्यक्ष मीरा शर्मा ने बताया कि वर्ष 2018-19 में राज्य वित्त आयोग से पंचायत समिति नारकंडा को 11 लाख 95 हजार रुपये स्वीकृत हुए हैं, जो खंड की विभिन्न 26 पंचायतों में विकास कार्यो पर खर्च किए जाएंगे।

Posted By: Jagran