संवाद सहयोगी, रामपुर बुशहर : रामपुर के नगर परिषद सभागार में रविवार को नशा निवारण कार्यक्रम का आयोजन किया। कार्यक्रम में शहर के लोगों के अलावा आसपास के लोगों ने भी भाग लिया।

एसडीपीओ रामपुर अभिमन्यु वर्मा ने कहा कि प्रत्येक परिजन अपने बच्चों की दिनचर्या पर ध्यान दें। नशे के आदी युवाओं में नशा लेने के बाद कई बदलाव आने लगते हैं, जिसमें ढिलाई बरतना खतरे से खाली नहीं है। समाज से नशे को खत्म करने के लिए हर आम आदमी को पुलिस के साथ सहयोग करने की आवश्यकता है। आम लोगों द्वारा दी जा रही सूचनाओं के कारण ही बीते तीन माह में नशे का कारोबार करने वाले कई लोगों को पकड़ा जा चुका है। पुलिस को सूचना देने वाले व्यक्ति की पहचान पूरी तरह से गुप्त रखी जा रही है। नशे के सौदागर पैसा कमाने के लिए युवा पीढ़ी को बर्बाद करने में लगे हुए हैं। इसके कारण चोरी और अन्य आपराधिक घटनाओं में काफी बढ़ोतरी हुई है। उन्होंने महिलाओं से अपील की कि व ही बच्चों पर ज्यादा नजर रख सकती हैं। कार्यक्रम के अंत में लोगों से अपील की कि पुलिस का हर संभव सहयोग करें तब ही नशे को जड़ से खत्म किया जा सकता है, क्योंकि पुलिस भी समाज का ही एक हिस्सा है। कार्यक्रम के दौरान कई वक्ताओं ने अपने विचार भी रखे और पुलिस की इस मुहिम की सराहना की।

स्वास्थ्य विभाग से आए डॉ. गुमान नेगी ने बच्चों को नशे की लत से कैसे बचाया जा सकता है के बारे में विस्तार जानकारी दी। इस दौरान एक कमेटी का गठन किया गया, जो समय-समय पर बैठक कर इस बारे में जानकारी देगी। कार्यक्रम के दौरान नगर परिषद अध्यक्ष मीना कुमारी, उपाध्यक्ष दीपक सूद, व्यापार मंडल अध्यक्ष हरीश गुप्ता, पूर्व नगर परिषद अध्यक्ष पवन आनंद, आनंद नेगी, डॉ. गुमान नेगी, ध्रुव शर्मा, ब्रिजेश गोयल और नगर परिषद कार्यकारी अधिकारी बीआर नेगी भी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran