जागरण संवाददाता, शिमला : राष्ट्रीय रूर्बन मिशन के तहत घनाहट्टी कलस्टर के अंतर्गत सात पंचायतों में विकासात्मक गतिविधियों के लिए 15 करोड़ रुपये की राशि का प्रावधान किया गया है। अतिरिक्त उपायुक्त शिमला देवाश्वेता बनिक ने यह जानकारी बुधवार को उपायुक्त कार्यालय में विभिन्न पंचायत प्रतिनिधियों व जिला अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय रूर्बन मिशन के तहत शिमला ग्रामीण की नेरी पंचायत के पर्यटन स्थल चैडविक फॉल को विकसित करने का भी प्रावधान रखा जाएगा। जिला की अन्य पंचायतों में ग्रामीण क्षेत्रों में पर्यटन व वन विभाग की मदद से नर्सरी, फॉरेस्ट वॉक ट्रैक व प्राकृतिक स्थलों का सुंदरीकरण किया जाएगा। पंचायत प्रधानों से अपनी पंचायतों के समग्र विकास के लिए पर्यटन विस्तार, पर्यावरण सुरक्षा, रोजगार संसाधनों के विस्तार, स्वच्छता, गुणात्मक शिक्षा के विस्तार एवं सार्वजनिक हितों को प्राथमिकता देने का सुझाव दिया।

देवाश्वेता बनिक ने कहा कि सभी पंचायतों में सोलर लाइटें, स्ट्रीट लाइटें, लाइब्रेरी, आइटी प्रयोगशाला, स्कूलों में वालीबॉल, बैडमिंटन, कोर्ट, टेबल टेनिस की सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत करें। सामूहिक तौर पर सोलर फैंसिंग, वनों में फलदार पौधे रोपने से न केवल वन्य प्राणियों से किसानों को निजात मिलेगी, बल्कि फसलों का भी बचाव होगा। बैठक में पंचायत प्रतिनिधियों को पंचायतों में बेरोजगारों को ग्रामीण स्तर पर आजीविका के साधन उपलब्ध करवाने तथा पंचायतों के समग्र विकास के लिए विभिन्न विभागों की मदद से संसाधन उपलब्ध करवाने पर बल दिया। कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के उत्पादों के आधार पर पंचायतों द्वारा अपने क्षेत्र के निर्धन बीपीएल परिवारों को फूड प्रोसेसिंग का प्रशिक्षण दिलवाने के लिए बागवानी विभाग से मदद ली जा सकती है।

उन्होंने सभी पंचायत प्रतिनिधियों व विभागीय अधिकारियों से आपसी तालमेल व विचार विमर्श द्वारा सार्वजनिक हित को प्राथमिकता देने पर बल दिया। परियोजना अधिकारी जिला ग्रामीण विकास प्राधिकरण भुवन शर्मा ने बैठक का संचालन किया। बैठक में ग्राम पंचायत नेरी के प्रधान देवेंद्र ठाकुर, चायली पंचायत की प्रधान मीरा ठाकुर, मजठाई टुटू की प्रधान पूजा ठाकुर, ग्राम पंचायत शकराह की प्रधान सुमन गर्ग, ग्राम पंचायत घन्नाहट्टी के उप प्रधान देवेंद्र कुमार, ग्राम पंचायत बायचड़ी के प्रधान मनोज वर्मा, खंड विकास अधिकारी मशोबरा बेलीराम आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran