शिमला, जेएनएन। होम क्वारंटाइन तोड़ने को लेकर सेवानिवृत्त डॉक्टर मंजुला गुप्ता के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। महिला डॉक्टर शिमला के दीन दयाल उपाध्याय (रिपन अस्पताल) से सेवानिवृत्त है। वह 14 मार्च को यूके से शिमला लौटी थी। जांच के बाद डॉक्टरों ने उन्हें 11 अप्रैल तक होम क्वारंटाइन में रहने की सलाह दी थी। होम क्वारंटाइन के बजाय वह निरंतर लोगों से मिल रही थीं। स्वास्थ्य विभाग को इसकी जानकारी मिली। पड़ोसियों ने भी इसकी शिकायत की थी।

इसके बाद मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ. जितेंद्र चौहान ने इसको लेकर पुलिस को शिकायत भेजी। शिकायत के आधार पर पुलिस ने छोटा शिमला थाना में मामला दर्ज कर लिया है। अब पुलिस इसकी जांच में जुट गई है कि होम क्वारंटाइन तोड़ कर किन किन लोगों से मिलीं, उनकी तलाश की जा रही है। उन सभी लोगों के स्वास्थ्य की जांच करवाई जाएगी।

मुख्यमंत्री आवास के समीप रहती है महिला डॉक्टर

डॉ. मंजुला गुप्ता निवासी थरोच हाऊस क्लीफ इस्टेट में रहती है। यह मुख्यमंत्री के सरकारी आवास ओक ओवर के समीप है। इसके आसपास कई अधिकारियों के घर है। पुलिस के अनुसार पड़ोसियों ने भी इसकी शिकायत की थी। आस पड़ोस के लोग भी दहशत में हैं।

डॉक्टर होकर नियमों का करना चाहिए पालन: सीएमओ

डॉ. मंजुला को 11 अप्रैल तक होम क्वारंटाइन की सलाह दी गई थी। वे खुद डॉक्टर हैं ऐसे में उन्हें समझना चाहिए कि उनके नियम तोड़ने से समाज के अन्य लोगों में बीमारी फैलने का खतरा पैदा हो रहा है। पुलिस को शिकायत दी गई है। डॉ. जितेंद्र चौहान, सीएमओ शिमला

मामला दर्ज, जांच शुरू : एसपी

सीएमओ की ओर से आई शिकायत के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। इसकी जांच की जा रही है कि वे किन किन लोगों से मिली थी। -ओमापति जमवाल, एसपी शिमला

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस