मंडी, जागरण संवाददाता। लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल नेरचौक में सांस की बीमारी से जूझ रही एक महिला की देर शाम को मौत हो गई। महिला की हालत को देखते हुए उसके कोरोना से संबंधित लिए गए सैंपल जांच के लिए टांडा भेजे जाएंगे। रिपोर्ट आने के बाद ही यह तय होगा कि महिला का शव परिजनों को देना है या नहीं। पंडोह तहसील की 38 वर्षीय महिला रेशमा देवी पत्नी धनीराम गांव सोझा पांच दिनों से सांस लेने में दिक्कत, खांसी और जुकाम से पीड़ित थी। उसे तीन दिन मंडी जोनल अस्पताल में रखा गया। लेकिन सेहत में सुधार न होने पर नेरचौक मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया, जहां पर भी वह वेंटिलेटर पर थी।

बुधवार देर शाम को महिला ने दम तोड़ दिया। हालांकि प्रशासन ने उसके कोरोना से संबंधित सैंपल भरे हैं और वह वीरवार को जांच के लिए भेजे जाएंगे। रिपाेर्ट आने तक महिला का शव अस्पताल के शव गृह में रखा गया है। वहीं दूसरी और कुल्लू से रेफर किए गए अन्य राज्य के मजदूर की दूसरी रिपोर्ट भी नेगेटिव आई है। उसकी हालत मंगलवार को बिगड़ने के कारण उसका सैंपल दोबारा भेजा गया था।

नेरचौक मेडिकल कॉलेज के एमएस डॉक्टर डीके शर्मा ने बताया सांस की बीमारी से परेशान महिला की मौत हो गई है। उसके सैंपल आज जांच के लिए जाएंगे, तब तक शव परिजनों को नहीं दिया जाएगा। वहीं अन्य राज्य के मज़दूर का दूसरा सैंपल भी नेगेटिव आया है।

 

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस