सवाद सहयोगी मंडी : जिला में तीन दिनों से लगातार हो रही बर्फबारी और अब बारिश आमजन के लिए आफत बन गई है। मंगलवार को भी सराज, नाचन, करसोग, बरोट, पराशर चौहारघाटी सहित अन्य स्थानों पर बारिश और बर्फबारी का दौर जारी रहा है। सराज के धार्मिक स्थल शिकारी देवी में करीब दो फीट तक बर्फबारी हुई है। शैटाधार व कमरूनाग में एक फीट तक बर्फबारी दर्ज की गई है। इसके अलावा सराज की जोगणी धार, चुंजबाला धार, स्पैहनीधार, थाचाधार, कलहनी, करथाच, नलबागी, शुनका, देवगल की पहाड़ियों ने भी बर्फ की चादर ओढ़ ली है। उधर, मैदानी इलाकों में बारिश का दौर जारी है। इससे पूरे जिला में शीतलहर का प्रकोप बढ़ गया है। भारी बर्फबारी से जिले के कई 51 संपर्क मार्ग आवाजाही के लिए बंद हो गए है। पाइपों में पानी जाम होने से लोग पानी के लिए तरस गए हैं।

सराज घाटी में बर्फबारी से बिजली व पानी की किल्लत बनी हुई है। घाटी में बर्फबारी से थाचाधार, खौली, खणी, शालागाड़ सहित कई गांवों और पंचायतों में बिजली की आंख मिचौनी जारी रही।

इन सड़कों पर बंद हुई आवाजाही

जिला में बर्फबारी से बंजार-गाड़ागुशैनी-खौली, जंजैहली-छतरी, गाड़ागुशैणी-टपनाली-घाट, गाड़ागुशैणी-छतरी, छतरी-जंजैहली, सुधराणी-थाटा, खौली-छाछगलू, पंजाई-थाची-डीडर, थलौट-चलौट, चैलचौक-करसोग, देवीदहड़-जहल, मशोगल-जाछ, लंबाथाच-शीलहिबागी, बसन-सोमगाड, नारायण-गलु-डिडर, बिझड़-नारायण-शैटाधार, थाटा-समलवास, भौंचड़ी-कांढा, थाच-कसौड, पंडोह-सराची, सु‌र्द्ध-माहुधार, नलवागी, छतरी-जंजैहली-वाया लसी, जंजैहली-मगरूगला, जंजैहली-बखरोत-शिकारी देवी सहित अन्य सड़कें बंद हैं।

पेयजल किल्लत से जूझ रहे गांव

सराज के बुंग, डीडर, खलवाण, गाड़ागुशैणी, थाचाधार, खौली, टील, घाट सहित अन्य गांवों में पाइपों में पानी जाम हो गया है। लोग बर्फ पिघलाकर पानी की जरूरत को पूरा कर रहे हैं। प्राकृतिक जलस्रोत बर्फ से बंद हो गए हैं।

जनजीवन सामान्य करने को प्रयास जारी : डीसी

उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर ने बताया कि मंडी जिला के बर्फबारी प्रभावित ऊपरी क्षेत्रों में जनजीवन सामान्य करने के लिए प्रशासन और विभाग दिन रात कार्य कर रहा है। यातायात, विद्युत व्यवस्था बहाल करने के साथ ही अन्य आवश्यक सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए युद्धस्तर पर कार्य जारी है।

चौहारघाटी की पहाड़ियां बर्फ से लकदक

संवाद सहयोगी, पद्धर : उपमंडल की चौहारघाटी में बर्फबारी का सिलसिला लगातार जारी है। इससे ऊंची घाटियां बर्फ से लकदक हो गई हैं। चौहारघाटी और साथ लगते छोटा भंगाल में बर्फबारी सोमवार से हो रही है। मंगलवार से दिन भर बारिश के साथ साथ ताजा बर्फ के फाहे गिरते रहे। मंगलवार शाम को मुख्य बाजार बरोट में ही तीन से चार सेंटीमीटर बर्फ की सफेद चादर बिछ गई। चौहारघाटी में हुए हिमपात से कई सड़कों पर यातायात ठप पड़ गया है। मंगलवार दोपहर तक बरोट-लोहारडी, बरोट-बड़ागांव तथा बरोट-मियोट सड़कों पर वाहनों की आवाजाही सुचारू रही लेकिन दोपहर बाद भारी बर्फबारी के बाद यहां यातायात व्यवस्था चरमरा गई। ऐसे में बरोट से लोहारडी तथा बड़ागांव के लिए लोगों को पांच से दस किलोमीटर का सफर पैदल ही तय करना पड़ा। लोक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता बलवीर ठाकुर ने कहा कि मंगलवार दोपहर तक मुख्य राजमार्ग घटासनी बरोट में यातायात सुचारू रहा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस