जागरण टीम, कुल्लू/ मनाली : जिला कुल्लू में सोमवार रात से जारी बारिश व बर्फबारी ने एक बार फिर से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। जिला में 45 बस रूट बाधित हो गए हैं। मंगलवार को हिमाचल पथ परिवहन निगम की 10 ब्यासर, सारी, कालंग, भलुग, आदि मार्गों में फंस रही। इन्हें दोपहर बाद निकाल लिया गया। ब्यासर में अभी भी बस फंसी हुई है। बर्फबारी से यातायात, बिजली व पानी की आपूर्ति ठप है।

जिला कुल्लू के आउटर सिराज को जोड़ने वाला नेशनल हाइवे औट लुहरी सैंज मार्ग पिछले माह से बंद पड़ा हुआ है। विभाग के मुताबिक इस मार्ग को खुलने के लिए दो माह लग सकते हैं। उधर, अड्डा प्रभारी कुल्लू टेक चंद ने बताया कि जिला कुल्लू में सुबह 10 बसें फंसी थी, जिन्हें दोपहर बाद निकाला गया है। अभी भी ब्यासर में एक बस विभाग की फंसी है।

उधर, पर्यटन नगरी मनाली में पांच इंच हिमपात हो चुका है। पर्यटन स्थल सोलंगनाला, फातरु, अंजनी महादेव व कोठी में एक फीट व रोहतांग दर्रे में अब तक दो फीट बर्फबारी हुई है। रोहतांग, राहनीनाला, मढी, ब्यासनाला, राहलाफाल, गुलाबा, धूंधी में हिमपात हो रहा है। स्थिति यह है कि बर्फबारी से मनाली में बस सेवा बंद हो गई है। मनाली से घरों को लौटने वाले पर्यटकों की दिक्कतें बढ़ गई है। पतलीकूहल से मनाली के लिए बसें नही आ रही है। रोहतांग के उस पार पहले से ही प्रभावित चल रहे जनजीवन के बीच लाहुल घाटी में एक बार फिर शुरू हुई बर्फबारी ने लोगों की दिक्कत को बढ़ाया है। कोकसर, सिसु, गोंदला, दालंग, दारचा, योचे, छिका, रारिक, नेनगाहर सहित पटन घाटी, चंद्रा घाटी, गाहर वैली में बर्फबारी हो रही है। केलंग के एसडीएम अमर नेगी ने बताया कि प्रशासन सतर्क है तथा हालात पर नजर रखे हुए हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस