संवाद सहयोगी, मंडी : विश्वकर्मा मंदिर मंडी में सोमवार को जायका के अंतर्गत फसल विविधिकरण प्रोत्साहन योजना के तहत कलस्टर मेला का आयोजन किया गया। मेले में ¨सचाई की 13 परियोजनाओं से संबंधित लगभग 300 किसानों ने भाग लिया। इसमें कृषि विकास संघ के पदाधिकारियों के साथ 12 महिला समूह भी मौजूद थे। इन महिलाओं द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में उत्पादों की प्रदर्शनी भी लगाई गई। मेले का शुभारंभ तकनीकी प्रोत्साहन योजना विशेषज्ञ योको नगाटा ने किया। उन्होंने प्रदर्शनी का अवलोकन कर किसानों को भी प्रोत्साहित किया। जिला परियोजना प्रबंधक डॉ. केएस पटियाल ने कहा कि परियोजनाओं के उद्देश्य बताए। इस अवसर पर समूहों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी में तरवाड़ प्रथम, छम्यातर मनसाई द्वितीय तथा गाड़नाल, पंडोह तृतीय स्थान पर रहे। इसके अतिरिक्त नौ समूहों को सांत्वना पुरस्कार भी प्रदान किए गए। मेले में कृषि विज्ञान केंद्र, सुंदरनगर के कीट वैज्ञानिक, डॉ. पंकज सूद द्वारा किसानों को कीटनाशक दवाईयों के छिड़काव, डॉ. कविता शर्मा, गृह वैज्ञानिक ने फल एवं सब्जियों से संबंधित मूल्य संव‌र्द्धन, राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित मंडी जिला के अग्रणी किसान चौधरी परमा राम ने खेती के लिए स्वयं तैयार किए बहुद्देश्यीय औजारों की जानकारी रखी। इस अवसर पर विषयवाद विशेषज्ञ जायका मंडी एचआर सकलानी ने किसानों व अधिकारियों का स्वागत किया।

Posted By: Jagran